12 AUGUST को हम निकलेंगे सड़क पर, क्या आप भी आएंगी?

317
12 August

प्रतिभा ज्योति:

#MeriRaatMeriSadak
इस बार 12 August की रात यादगार होगी. महिलाएं सड़क पर निकलेंगी रात में. देश भर की महिलाएं अलग-अलग हिस्सों में रात में निकलेंगी इसलिए क्योंकि महिलाओं को इस समय सड़क पर निकलने से मना किया जाता है, उन्हें डराया जाता है, धमकाया जाता है, निकले तो पीछा किया जाता है, छेड़खानी होती है, अपहरण होता है, रेप होता है और यदि इन सब बातों से बच-बचाकर घर पहुंच भी जाए तो उससे पूछा जाता है कि वो रात में बाहर क्या कर रही थी, समाज अकेली रात में घर आने वाली महिलाओं को चरित्रहीन कहता है और न जाने क्या-क्या 




MUST READ: ये सड़कें रात में क्या इसलिए UNSAFE नहीं कि हम निकलते ही नहीं?

 

औरतों के लिए रात में घर से न निकलने के लिए हजारों बेड़ियां लगाई गई हैं वे सब 12 अगस्त की रात टूट जाएंगे क्योंकि इस सड़क पर हमारा भी उतना ही बुनियादी अधिकार है जितना कि किसी और का.  अक्सर लड़के शाम के समय घर से निकलते हैं और लड़कियों को शाम तक घर पहुंचने का आदेश सुनाया जाता है. कितने घरों में मां-बाप बेटों से कहते हैं-बेटा शाम में बाहर मत घुमा करो..




सड़क तो किसी से भेदभाव नहीं करती. उसे नस्ल, समुदाय, धर्म और जेंडर से कोई फर्क नहीं पड़ता. उसे इस बात से भी फर्क नहीं पड़ता कि कोई साईकिल से जा रहा है और कौन गाड़ी से. सड़क तो सबके लिए है, तो क्यों महिलाओं के लिए रात में सड़क पर निकलने की मनाही है. हमारी एक मित्र ने सही लिखा कि सड़कें इसलिए अनसेफ है क्योंकि हम निकलते ही नहीं. जिस दिन निकलना शुरु कर देंगे रातें महफूज होने लगेंगी.

MUST READ: ‪#‎meriraatmeriraah‬’ क्या आप भी निकलेंगी रात में सड़क पर?

 

खाली सड़क तो अपराधियों, चोर-उचक्कों का अड्डा बन जाता है. सवाल इन असामाजिक तत्वों से क्यों नहीं किया जाता कि वे रात में किस शिकार की तलाश में है, उन्हें घर पर रहने के लिए क्यों नहीं कहा जाता? हम तो ऑफिस और दूसरे जरुरी काम निबटाकर घर लौट रहे होते हैं. क्या हुआ यदि हम किसी पार्टी या पब से ही आ रहे हैं या क्या हुआ यदि हम किसी दोस्त के घर से आ रहे हैं. हमसे सवाल करने वाले उन लोगों से सवाल क्यों नहीं पूछते कि यह हक़ तुम्हें किसने दिया कि यदि कोई औरत अकेली रात में घर लौट रही हो तो उस पर अपनी बुरी नजर डालो. ये सड़क हमारी है, इस पर चलने का अधिकार हमारा है, पुलिस और कानून व्यवस्था का काम है कि इसे हमारे लिए सेफ बनाएं. 




हमारे कुछ साथियों ने इस सड़क को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाने के लिए #MeriRaatMeriSadak कैंपेन शुरु किया है और इसी कैंपेन के तहत महिलाएं निकलेंगी रात में सड़क पर.  Womeniaworld.com इस कैंपेन का समर्थन करता है. हम जानते हैं कि एक रात निकलने से कुछ नहीं होगा, लेकिन घर पर चुप रहकर बैठने से भी तो कुछ नहीं होगा…तो चलिए निकलते हैं….