भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री SUNITA WILLIAMS को हासिल हो सकता है ये गौरव….

715
Sunita Williams The Indian American
Sunita Williams among 9 astronauts named for first human spaceflight

भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री Sunita Williams के खाते में एक और उपलब्धि जुड़ने जा रही है. Sunita Williams एक नया इतिहास रचने की तरफ बढ़ रही हैं.




Sunita  Williams को  अमेरिका में तैयार First human spaceflight (पहले मानव अंतरिक्ष यान) को पहली बार अं‍तर‍िक्ष में ले जाने का गौरव हासिल हो सकता है.

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक National Aeronautics and Space Administration (Nasa) ने प्राइवेट स्पेसश‍िप उड़ान योजना से जुड़ी बोइंग और स्पेसएक्स कंपनी के अंतरक्षि यात्रियों की घोषणा शुक्रवार को कर दी है. जिसमें Indian origin US astronaut Sunita Williams का भी नाम शामिल है.




READ THIS: PSYCHOLOGICAL CLOCK-किसी फ्रेंड को मनाना हो या बॉस से सैलरी बढवानी हों तो कब करें फोन?

The Boeing Company and SpaceX की ओर से तैयार और ऑपरेट किए गए प्राइवेट स्पेसफ्लाइट में कुल 9 क्रू मेंबर शामिल किए गए हैं जिसमें सुनीता विलियम्स भी रहेंगी.

US space agency’s Commercial Crew Programme के तहत अंतरिक्ष में उड़ान भरा जाएगा.  Nasa प्राइवेट अमेरिकी अंतरिक्ष यान से लोगों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आइएसएस) भेजने जा रहा है.

NASA Administrator Jim Bridenstine ने बताया कहा कि 2011 के बाद हम पहली बार American rockets पर अमेरिकी जमीन से American astronauts को प्रक्षेपित करने जा रहे हैं.




SEE THIS: LUNG CANCER AMONG WOMEN- सावधान: इस साल के बीच तक बढ़ जाएंगे LUNG CANCER के इतने मामले?

पहली उड़ान 2019 की शुरुआत या मध्य तक हो सकती है. शुरु में टेस्ट उड़ान ही होंगे. 2011 के बाद अमेरिकी धरती से अंतरिक्ष की उड़ान भरने वाले ये पहले क्रू भी होंगे. अपने पहले ऑपरेशनल मिशन में सुनीता विलियम्स और जोश कसाडा बोइंग के विमान से उड़ान भरेंगे.

क्या है Sunita Williams की उपलब्धियां?

अंतरिक्ष यात्री रहीं सुनीता ने अंतरिक्ष में कई रिकॉर्ड बनाएं हैं. उन्होंने अंतरिक्ष में कुल 322 दिन गुजारें हैं. महिला अंतरिक्ष यात्री के तौर पर 5 घंटे 40 मिनट के सर्वाधिक स्पेसवॉक का रिकॉर्ड भी उन्होंने अपने नाम कर लिया है.

वे सात बार Space Walk कर चुकी हैं. वे अमेरिकी नेवी कैप्टन हैं. उनके पूर्वजों का गुजरात के अहमदाबाद से नाता रहा है. मई 1987 में उनका चयन अमेरिकी नेवी में हुआ. 1998 में नासा के लिए चुने जाने से पहले उन्होंने 30 से ज्यादा अलग-अलग हेलिकॉप्टर में 3,000 घंटों से ज्यादा की उड़ान भरी थी.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें