TRAGEDY QUEEN- MEENA KUMARI को गूगल ने ऐसे किया याद

431
Meena Kumari googgle doodle
Google Doodle Remembers Meena Kumari

Meena Kumari को कौन नहीं जानता? वह तो जैसे पर्दे के लिए ही बनी थी और पर्दे पर ही उनकी जिंदगी  गुजर गई. Meena Kumari को फिल्म जगत ने नाम दिया ‘ट्रेजडी क्वीन’. Meena Kumari के 85 वें बर्थडे पर Google ने Doodle बनाकर याद किया है.




अपने दमदार और संजीदा अभिनय से दिलों पर छा जाने वाली ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी का जन्म 1 अगस्त 1933 को मुंबई में हुआ था.

Meena Kumari googgle doodleवो 5 BOLLYWOOD ACTRESSES जिसने ALCOHOL में डूबो दी अपनी जिंदगी

वर्ष 1939 मे बतौर बाल कलाकार मीना कुमारी को विजय भटृ की ‘लेदरफेस’ में काम करने का मौका मिला. वर्ष 1952 मे मीना कुमारी को Vijay Bhatt के निदेर्शन में ही ‘बैजू बावरा’ में काम करने का मौका मिला. फिल्म की सफलता के बाद मीना कुमारी बतौर अभिनेत्री Bollywood मे अपनी पहचान बनाने मे सफल हो गईं. साल 1962 मीना कुमारी के सिने करियर का अहम पड़ाव साबित हुआ. इस वर्ष उनकी -‘आरती’, ‘मैं चुप रहूंगी’ और ‘साहिब बीबी और गुलाम’, जैसी फिल्में प्रदर्शित हुईं. इसके साथ ही उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस के Film Fare पुरस्कार के लिए Nominate किया गया.

Meena Kumari googgle doodle
Meena kumari in sahib bibi aur ghulam
एक नया रिकॉर्ड कायम करा

यह फिल्मफेयर के इतिहास मे पहली बार ऐसा हुआ था जब एक ही एक्ट्रेस को फिल्मफेयर के तीन Nomination मिले थे. अशोक कुमार के साथ मीना कुमारी की जोड़ी काफी पसंद की गई. मीना कुमारी को उनके बेहतरीन अभिनय के लिए चार बार फिल्मफेयर के बेस्ट एक्ट्रेस के पुरस्कार से नवाजा गया है. इनमें बैजू बावरा, परिणीता, साहिब बीबी और गुलाम और काजल शामिल है.




HOCKEY में एशियाई चैंपियन बन गई हमारी बेटियां, चीन को दी मात

एक बेहतरीन शायरा  भी थी

 मीना कुमारी यदि एक्ट्रेस नहीं होती तो शायर के रूप में अपनी पहचान बनाती.  मीना कुमारी ने अपनी वसीयत में अपनी कविताएं छपवाने का जिम्मा गुलजार को दिया था. जिसे उन्होंने ‘नाज’ उपनाम से छपवाया. लगभग तीन दशक तक अपने संजीदा अभिनय से दर्शकों के दिल पर राज करने वाली अभिनेत्री मीना कुमारी 31 मार्च 1972 को हमेशा के लिए अलविदा कह गईं.




दिलचस्प घटना

फ़िल्म ‘चित्रलेखा’ की शूटिंग के दौरान मीना कुमारी ने केदार शर्मा से कहा कि शर्माजी मेरे पास आपकी दुअन्नी और चवन्नियों की बहुत बड़ी भीड़ इकट्ठा हो गई है. अब आप अपना रेट बढ़ा दीजिए और सचमुच एक दिन उन्होंने एक सीन में मीना कुमारी के अभिनय से ख़ुश हो कर उन्हें सौ रुपए का नोट ईनाम में दिया.

महिलाओं पर होने वाले उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने और ‘चेतना’ जगाने कहां उतरेंगी WOMEN POLICE VOLUNTEERS

 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें