GHANSHYAM TEMPLE -जहां इस रुप में पूजे जाते हैं कान्हा

83
Ghanshyam Temple Jodhpur
Ghanshyam Temple Jodhpur (Pik Courtesy: Fotostock)

राजस्थान के Jodhpur शहर के ह्रदय स्थली में स्थित है Ghanshyam Temple. इस Ghanshyam Temple में चांदी की पालकी पर कान्हा जी विराजमान है. मंदिर में कान्हा जी की मूर्ति का श्रृंगार अद्भुत है.




हर रोज प्रतिमा का फूलों से नए कलेवर में श्रृंगार किया जाता है. Ghanshyam Temple के गर्भ गृह पर लिखा है-जय श्याम री सा….

राजा के तौर पर होती है कान्हा की पूजा

मंदिर में कान्हा जी की पूजा घनश्याम राजा के तौर पर होती है. इस विशाल Ghanshyam Temple का निर्माण मारवाड़ शासक महाराजा  Ajit Singh ने 1685 में करवाया था. वह बड़े कला प्रेमी और साहित्य प्रेमी राजा थे. उनका शासन काल 1678 से 1724 तक था.




READ THIS: CHATURDASHA DEVTA TEMPLE- अगरतला जाएं तो इस मंदिर में दर्शन करना नहीं भूलें…

घनश्याम मंदिर के प्रांगण में विष्णुप्रिया तुलसी विराजती हैं. मंदिर की दीवारीों पर धार्मिक कथाओं को चित्रों में दिखाया गया है. मंदिर के गर्भगृह की दीवारों पर और मंदिर की छत पर सुंदर पेंटिंग बनी है. बाहर से मंदिर सफेद रंग का है.

मंदिर के मुख्य द्वार के बाद विशाल आंगन है. मुख्य द्वार का नाम Ajit Dwar है. इस द्वार का निर्माण 1718 में हुआ था. बाद में 1964 में इसे नया रुप दिया गया. मंदिर में सेवा और पूजा वैष्णव पद्धति से की जाती है.




घनश्याम मंदिर की होली भी काफी प्रसिद्ध 

घनश्याम मंदिर की होली की भी काफी प्रसिद्धि है. भक्त लोग कान्हा जी के सामने रंग भरी होली तक चलता है. इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि जो कोई सच्चे दिल से मांगता है, श्री श्याम जी उसको पूरा कर देते हैं.

इसलिए रोज हजारों की संख्या में यहा श्रद्धालु आते हैं और यहां दर्शन कर अपना जीवन धन्य बनाते हैं. पूरा मंदिर सुरुचिपूर्ण ढंग से सजा है. Krishna Janmashtami का उत्सव यहां बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है.

कैसे पहुंचे?

Ghanshyam Temple जोधपुर के महावीर पोल इलाके में है. ये मंदिर जोधपुर शहर के एकदम बीच में बना है. यह इलाका जुनी मंडी (Juni Mandi) के नाम से जाना जाता है. यह रेलवे स्टेशन से पांच किलोमीटर की दूरी पर है.

SEE THIS: कृष्ण को CENTRE OF GRAVITATION क्यों मानते हैं हम?

मंदिर के बगल में यहां टैक्सी स्टैंड है. जोधपुर देश के विभिन्न स्थानों से रेलमार्ग से अच्छी तरह जुड़ा है. सड़क मार्ग और हवाई मार्ग से भी जोधपुर पहुंचा जा सकता है.

(साभार-हिन्दुस्तान)

 

अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें