तो इसलिए अपने नाम से MARLENA शब्द हटाया ‘आप’ नेता ‘ATISHI MARLENA’ ने

435
Atishi Marlena
Atishi Marlena drops her last name

क्या यह राजनीति की मांग नहीं कि Aam Aadmi Party (AAP) की Atishi Marlena को अपने नाम से से  Marlena शब्द हटाना पड़ा है. Atishi Marlena अब केवल Marlena है.

कहा जा रहा है कि ऐसी अफवाहें उड़ रही थीं कि Atishi Marlena के नाम में लगा Marlena शब्द से लोग उन्हें ईसाई समझ रहे हैं जो कि आम आदमी पार्टी और उनकी जीत में बाधक हो सकता है. इसलिए अब वे कह रही हैं कि वो ‘पंजाबी राजपूत’ हैं

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक आतिशी ने अपने नाम से ‘मर्लिना’ इसलिए हटाया क्योंकि इससे लगता है कि वे ‘ईसाई’ हैं और वे इस बार साल 2019 के लोकसभा चुनावों में East Delhi Constituency से पार्टी की उम्मीदवार होंगी तो उन्हें डर है कि इससे चुनावों में नुकसान होगा.

READ THIS: कौन है SUDHA BHARDWAJ और क्यों है वे नजरबंद ?

आतिशी यह भी कह रही हैं कि अपने नाम से मर्लिना शब्द हटाने के लिए पार्टी ने उनपर कोई दबाव नहीं डाला है और इस पर पार्टी में अच्छी तरह सलाह-मशविरा किया गया है. यानी CM Arvind Kejriwal की भी इस पर सहमति है.

Karl Marx-Vladimir Lenin के नाम से बना Marlena 

आतिशी मूल रुप से पंजाबी राजपूत परिवार से आती हैं. उनके पिता विजय सिंह दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे. वह वामपंथी विचारधारा से बेहद प्रभावित थे. जब आतिशी स्कूल में पढ़ती थीं तो उनके पिता ने मार्क्स और लेनिन के नाम को मिलाकर आतिशी के आगे लगा दिया.

SEE THIS: NAVDEEP KAUR- चंडीगढ़ की FIRST WOMAN CAB DRIVER के नाम से थी मशहूर, अब इसलिए हुई बदनाम

आतिशी ने Oxford University से उच्च शिक्षा ग्रहण किया है. जब आम आदमी पार्टी बनी तो वे इससे जुड़ गईं. 2013 और 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में पार्टी का घोषणा पत्र तैयार करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही.

जब दिल्ली में सरकार बन गई तो ‘आतिशी’ को Deputy Chief  Minister Manish Sisodia का सलाहकार बना दिया गया. हालांकि अप्रैल 2018 में गृह मंत्रालय के आदेश पर यह नियुक्ति रद्द हो गई.

इसके बाद पार्टी ने उन्हें Lok Sabha Election के लिए पूर्वी दिल्ली का प्रभारी नियुक्त किया. आतिशी पहली उम्मीदवार है जिनके नाम की घोषणा पार्टी ने 2019 election के लिए सबसे पहले की है. वे प्रवक्ता के तौर पर भी टीवी पर अच्छा बहस करती हैं.