हरियाणा की WOMAN IAS OFFICER ने अपने सीनियर पर लगाया यौन उत्पीड़न और धमकी देने का आरोप

739
Woman IAS Officer
Woman IAS Officer alleged senior officer sexually exploited her

हरियाणा की एक Woman IAS Officer ने अपने सीनियर अफसर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.  Woman IAS Officer का आरोप है कि  ‘आधिकारिक फाइलों पर नकारात्मक टिप्पणी’ लिखने के कारण सीनियर अफसर ने उसका यौन उत्पीड़न किया.




महिला अधिकारी ने अपनी व्यथा फेसबुक पोस्ट पर लिखा है. उन्होंने लिखा है कि 22 मई को उनके सीनियर ऑफिसर ने उन्हें अपने कमरे में बुलाया और कथित तौर पर कहा कि-‘तुम फाइलों पर ये क्यों साफ-साफ लिखती हो कि विभाग ने क्या-क्या गलत किया है, मैं तुम्हारी धज्जियां उड़ा दूंगा’.

Woman IAS Officer के मुताबिक पुरूष अधिकारी ने उन्हें धमकाया कि अगर उन्होंने आधिकारिक फाइलों पर नकारात्मक टिप्पणियां लिखना बंद नहीं किया तो उनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट (एसीआर) को खराब कर दिया जाएगा.




Woman IAS Officer ने अपने विस्तृत पोस्ट में लिखा है कि सीनियर ऑफिसर ने उन्हें 31 मई को बुलाया और अपने स्टाफ को हिदायत दी कि किसी को उनके कमरे में नहीं आने दिया जाए.

READ THIS: बैंगलुरु में OLA CAB के DRIVER ने पहले लड़की के कपड़े उतारे और मोबाइल से खींचे फोटो

इसके बाद ‘‘ उन्होंने मुझसे कहा कि उन्हें एक नई- नवेली दुल्हन की तरह सबकुछ समझाना पड़ेगा और वह मुझे उसी तरह से समझा रहे हैं.

Woman IAS Officer के मुताबिक उस दिन मुझे उनका व्यवहार अनैतिक लगा. इसी तरह 6 जून सीनियर ऑफिसर ने उन्हें शाम पांच बजे अपने दफ्तर में बुलाया और उनसे शाम 7 बजकर 39 मिनट तक वहीं रहने को कहा. ‘‘ मैं मेज की दूसरी तरफ उनके सामने बैठी थी. उन्होंने मुझसे कहा कि उनकी कुर्सी के नजदीक आऊं.




जब मैं मेज की दूसरी तरफ पहुंची तो उन्होंने मुझे कंप्यूटर चलाना सिखाने का दिखावा किया. मैं अपनी कुर्सी पर वापस चली गई. कुछ देर बाद वह खड़े हुए और कोई कागज ढूंढते हुए मेरी कुर्सी के करीब आए और कुर्सी को धक्का दिया.

महिला अधिकारी का आरोप  है कि अब कुछ सीनियर अफसर जिसमें महिलाएं भी शामिल है उन्होंने उससे कहा है कि मैं कोई लिखित शिकायत नहीं करुं, लेकिन मैंने इस घटना के संबंध में राष्ट्रपति को ईमेल भेजा है.

SEE THIS: क्या ये 3 गलतियां करके FACEBOOK पर हम खुद ही नहीं कर रहे निजी जानकारियां साझा?

Indian Express अखबार के मुताबिक हरियाणा के Animal Husbandry And Dairying विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव Sunil Gulati पर यह आरोप लगा है और उन्होंने इस आरोपों को निराधार बताया है.

उनका कहना है कि महिला अफसर को सलाह दी गई थी कि अन्य अधिकारी फाइल को मंजूरी दे चुके हैं उसमें गलतियां नहीं निकालें. यदि वे अपना काम ठीक से नहीं करना जानती हैं तो यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं उन्हें प्रशिक्षण दूं.

हरियाणा के राज्य महिला आयोग की अधयक्ष प्रतिभा सुमन ने कहा ने कहा कि आयोग इस मामले की जांच करेगा और हम दोनों ऑफिसर को अपने ऑफिस में बुलाएंगे.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें