PERIOD LEAVE पर बरखा दत्त ने क्यों उठाए सवाल?

0 views
Burkha dutt
Burkha dutt

Period में महिलाओं को होने वाले दर्द और अन्य शारीरिक तक़लीफों को देखते हुए में Period Leave देने की एक नई शुरुआत हो गई है. इसे शुरु किया है मुंबई की डिजिटल कंपनी ‘कल्चर मशीन’ और ‘गोजुप कंपनी’ ने  ‘First Fay Of Period Leave’ की नई पॉलिसी बनाई है. इस पॉलिसी के तहत महिलाएं पीरियड के पहले दिन छुट्टी लेंगी और उनसे कोई सवाल-जवाब नहीं होगा.




इस पहल की शुरुआत का श्रेय कल्चर मशीन को जाता है. इस कंपनी में 75 महिलाएं काम करती हैं. महिलाओं ने कंपनी की इस पॉलिसी पर खुशी भी जाहिर की है और कंपनी ने कहा है कि इससे कंपनी में कामकाज का माहौल बेहतर बनेगा. लेकिन इस तरह के लीव को लेकर महिलाओं में ही सहमति-असहमति के सुर सुनाई देने लगे हैं. वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने इस लीव पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है कि पीरियड में छुट्टी देना ठीक नहीं है, यदि ऐसा हुआ तो कल को यही छुट्टी पुलिस और सेना में महिलाओं की नहीं भर्ती की वजह बनेगी. वहीं शिवसेना की वरिष्ठ पार्षद शीतल महात्रे ने मांग की है कि सरकारी, अर्धसरकारी और निजी संस्थानों में काम करने वाली महिलाओं को एक दिन की पीरियड लीव दी जाए.




बरखा ने पीरियड लीव पर अपनी यह नाखुशी अपने Tweet के जरिए जताई है. पिछले कुछ दिनों पहले एक के बाद एक कई Tweet में बरखा दत्त ने कहा है कि यह ठीक है कि पीरियड काफी कष्ट भरे होते हैं लेकिन इससे हम अपना काम नहीं रोक सकते. उनका कहना है कि 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान वे जब रिपोर्टिंग कर रही थीं तो वे पीरियड में थीं.

 

 

 MUST READ: जो औरत का दर्द नहीं समझता, भगवान उसे मर्द नहीं समझता’

 

बरखा का कहना है कि महिलाओं को इस तरह की छुट्टी की जरुरत नहीं है, ऐसा करके हम खुद को अलग दिखाते हैं. उनका यह भी मानना है कि ऐसी छुट्टी से शारीरिक पहलूओं को जरुरत से ज्यादा महत्व देना होगा.




भारत में अभी यह चलन शुरु हुआ है और इस पर बहस भी जारी होगी लेकिन दुनिया के कई देशों में महिलाओं को पहले से पीरियड लीव मिलता रहा है. इटली में महिलाओं को तीन दिन की छुट्टी मिलती है. चीन और जापान में भी महिलाएं इस तरह की छुट्टियां ले सकती हैं.

See this video:

  

Facebook Comments