मुसीबत से बचने के लिए इन papers का साथ कभी ना छोड़ें

0 views
important papers
important papers

प्रियंवदा सहाय:

आपके या परिवार के दूसरे सदस्यों के बड़े निवेश से जुड़े papers को हमेशा संभाल कर रखें. यह आयकर विभाग के फंदे में फंसने से आपको बचा सकता है. कई मामलों में विभाग की ओर से सालों बाद भी नोटिस भेज दिये जाते हैं. वहीं पूछताछ का अधिकार भी लंबे समय तक आयकर विभाग के पास रहता है, इसलिए यह कहना ग़लत नहीं होगा कि आपकी रसोई की ख़ास रेसिपी से जुड़ी बुक या फिर आपके होम एपलायंस के मैनुअल से भी ज़्यादा इन्हें सहेज कर रखना ज़रूरी है.




आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दो लाख से ज़्यादा रूपए के कैश लेन देन की रसीद 16 सालों तक ज़रूरत पड़ सकती है. वहीं टैक्स रिटर्न और उससे जुड़े दस्तावेज़, निवेश किये गए रूपए से जुड़े काग़ज़, क़र्ज़ चुकता करने के सबूत की ज़रूरत सालों बाद भी पड़ सकती है, क्योंकि आयकर विभाग मौजूदा वित्त वर्ष से संबंधित टैक्स नोटिस अगले छह सालों तक भेजने को स्वतंत्र है. वहीं जिन सम्पत्तियों का ब्यौरा नहीं दिया गया हो या फिर विदेशों में जमा कराई गई रक़म के बारे में 16 सालों के बाद भी नोटिस दिया जा सकता है. इसलिए बड़े निवेश से जुड़े papers को ज़रूर संभाल कर रखें.




कर में छूट पाने के लिए किये गए निवेश हो या चैरिटी रसीद इन्हें भी संभाल कर रखना चाहिए. यह भी सालों आपके काम आ सकते हैं.इसी तरह घर के काग़ज़ात , बैंक जमा और निवेश से जुड़े काग़ज़ और महँगे गिफ़्ट अगर किसी से मिला हो तो इसके प्रमाण भी हमेशा अपने पास रखें. यह आपको प्रापर्टी के लफड़े से हमेशा ही आपको बचाने में मदद कर सकता है.




जीवन भर आपकी फ़ाइलें में रहने वाले दस्तावेज़ व काग़ज़ात — परिवार के सभी सदस्यों का मेडिकल रिकार्ड , बीमा पालिसी से जुड़े काग़ज़, गाड़ी की ख़रीद बिक्री संबंधित काग़ज़, पासपोर्ट , आधार कार्ड, पैन कार्ड , वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस. ये सभी ऐसे काग़ज़ात हैं जिनकी ज़रूरत जीवन में कभी भी पड़ सकती है. यह आपका मुश्किल घड़ी में साथ दे सकता है. वहीं कभी मुसीबत से बचा भी सकता है.

Facebook Comments