GANESHA का पसंदीदा मोदक बनाने के 5 आसान टिप्स

0 views
Ganesha fried modak

संयोगिता कंठ:

विघ्नहर्ता, विघ्ननाशक, लंबोदर, एकदंत, गणपति, गणेश न जाने कितने नामों से पुकारे जाने वाले गजानन पधार रहे हैं. वे इस दुनिया में सुख-समृद्धि ले कर आते हैं. वे हर साल आते हैं और पूजन के बाद उनका विसर्जन किया जाता है. Ganesha का आना और फिर उनका विसर्जन इस बात का प्रतीक है कि जीवन में सुख-दुख आते रहते हैं.




MUST READ: क्या ये गणपति बप्पा जल्दी प्रसन्न होते हैं तो ,जल्दी नाराज़ भी ?

 
गणेश उत्सव में घर में खास तैयारी की जाती है. गणेश जी की पूजा के लिए नारियल-फल, मिठाई, धूप, दीप, मेवे तो होते ही हैं. साथ में भक्त उनके भोग के लिए कई तरह के व्यंजन बनाते हैं लेकिन गणपति का पसंदीदा मोदक और लड्डू का भोग भी लगाना नहीं भूलते हैं. मोदक तो वैसे एक मिठाई है लेकिन इसका आकार धन से भरी गठरी की तरह होता है यानी वे धन के साथ कलह से बचाते हैं. मान्यता है कि प्रसाद के रुप में मोदक चढ़ाने से गणपति प्रसन्न होते हैं. तो क्यों न आप भी आसानी से घर में ही मोदक बनाएं और गणपति को प्रसन्न करें.
 
 वैसे तो मोदक बनाने के कई तरीके हैं लेकिन हम आपको बता रहे हैं आसानी से बन जाने वाले फ्राइड मोदक बनाने के 5 टिप्स…

1-दो कप मैदे में एक चौथाई सूजी और तेल मिलाकर उसे अच्छी तरह हाथों से मिला लें. फिर पानी डालकर मुलायम गूंथ लें. ध्यान रहे यह आंटा जितना मुलायम होगा मोदक उतना अच्छा बनेगा.




2-200 ग्राम मावे को कड़ाही में डालकर हल्का सुनहरा होने तक भून लें. अच्छी तरह ठंढ़ा होने दे. फिर उसमें 150 ग्राम पिसी हुई चीनी, मेवा और इलायची मिलाएं.

3- छोटी-छोटी लोईयां बना लें. अब पूड़ियां बनाकर उसमें मेवे का भरावन भरें और कुछ प्लेट्स बनाकर उसे पोटली का आकार दें.




4-जब सारे मोदक बन जाएं तो हल्के गीले कपड़े से ढंक कर रख दें.

5-एक कड़ाही में तेल डालकर मोदक को धीमी आंच पर तल लें.

इस तरह गणपति के प्रसाद के लिए मोदक तैयार है…

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे… 

Facebook Comments