क्या आप भी सोचे-विचारे बिना ही WHATSAPP पर कुछ भी कर देती हैं SHARE-FORWARD. कीजिए इन 5 बातों पर पर गौर

1051
WhatsApp
Think twice before sharing or forwarding anything on whatsapp

हम में से ज्यादतर लोग WhatsApp, Facebook, Instagram जैसे सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर अपने कई घंटे बिताते हैं. ऐसे में पोस्ट, फोटो और वीडियो Share-Forward करना आम बात है.

लेकिन हम कई बार इस बात से अंजान रहते हैं कि बिना सोचे-समझे, तथ्यों को जाने बिना कुछे भी शेयर-या फारवार्ड करना किसी के लिए कितना घातक हो सकता है. इसलिए यह समझें कि WhatsApp पर आने वाली हर बात सच नहीं हैं…न ही पूरा सच..




WhatsApp के प्लेटफॉर्म से तेजी से Rumours फैलाई जाती हैं. हाल के सरकारी आंकड़ों को देखें तो अफवाह फैलाने या गलत जानकारी वायरल करने में WhatsApp की बहुत बड़ी भूमिका रही. लोगों ने बिना सोचे-समझे ऐसी बातों को शेयर या वायरल कर दिया जिससे किसी की जान पर बन आई.

बच्चा चोर गैंग की अफवाह WhatsApp पर फैली तो दो महीने के भीतर देश में 29 लोगों की जान चली गई. अफवाह उड़ी तो भीड़ ने बेगुनाहों को मार डाला. ये घटनाएं भयावह और जघन्य है.




MUST READ: क्या ये 3 गलतियां करके FACEBOOK पर हम खुद ही नहीं कर रहे निजी जानकारियां साझा?

इसके लिए वे भी दोषी हो सकते हैं जो ऐसी अफवाहों को कॉपी-पेस्ट करके अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को WhatsApp पर भेज देते हैं. इससे झूठ, अफवाहों और दुष्प्रचारों को हवा मिलती है.

WhatsApp
Pik Cour: Caravan Daily

व्हाट्सअप और अन्य सोशल मीडिया के जरिए फैल रही इन अपवाहों के कारण होने वाली हिंसा को लेकर अह सरकार भी जागी है और व्हाट्सअप को नोटिस जारी किया गया है. इस के जवाब में WhatsApp  ने कहा है कि वह ऐप के दुरुपयोग को रोकने के लिए उपायों पर काम कर रहा है.




WhatsApp अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करें उससे पहले आप भी WhatsApp पर कुछ शेयर या फारवर्ड करने से पहले इन 5 बातों पर गौर करें… 

1. व्हॉट्सएप पर आने वाली वाली हर बात को सच नहीं माने और न ही उस पर आंख मूंद कर भरोसा करें. अपने स्तर पर अपने सामान्य ज्ञान का इस्तेमाल कर इस प्लेटफॉर्म पर आने वाले वीडियो, फोटो और मैसेज की सत्यता को जांचे. इतिहास या तथ्यों के साथ की गई छेड़छाड़ को आप आसानी से पकड़ सकती हैं.

Whatsapp
Pik Cour: z.com

2. व्हॉट्सएप के जरिए Fake information और अफ़वाहों को फैलाना बहुत आसान है. इससे कुछ खास लोगों को फ़ायदा होता है इसका इस्तेमाल दंगे और हिंसा फैलाने, भीड़ को किसी खास व्यक्ति या खास समुदाय के प्रति उकसाने या नफरत बढ़ाने के लिए भी हो रहा है. आप सचेत रहें Harmful Misinformation शेयर करके किसी साजिश के भागीदार नहीं बने.

SEE THIS: SOCIAL NETWORKING SITES से क्या हमारे अपनो के बीच रिश्तों में आ रही है दूरियां?

3-किसी धर्म या समुदाय विशेष के ख़िलाफ़ भड़काऊ भाषण, पोस्ट, मैसेज, फोटो या वीडियो को कभी शेयर या फॉर्वर्ड नहीं करें. यदि किसी ने आपको ऐसा कुछ भेजा है तो सोचिए उनका क्या मकसद है? क्या किसी धर्म या व्यक्ति विशेष के प्रति अशांति या नफरत फैलाना आपको अच्छा लगेगा.

4- Video और Photo के प्रति खास तौर पर सचेत रहें. किसी भी तस्वीर या वीडियो में तकनीकी रुप से अनाप-शनाप  फेरबदल करके उसे वायरल किया जाता है. यह जानने की कोशिश करें यह कहां से आया है, किस क्षेत्र, किस स्थान और किस देश का है. दूसरे देशों के वीडियो को भारत का बता कर लोगों को बहकाने का चलन ज़ोरों पर है.

5-रेप या यौन शोषण के वीडियो वायरल करना भी आम बात हो गई है. किसी भी तरह का पोर्न कंटेट आपके मोबाइल में तो आप उसे शेयर या वायरल कर रहें हैं तो सोचें कि इससे हमारा क्या भला हो रहा है.

ध्यान रखिए किसी का चरित्र हनन करने, कुछ पल का आनंद या मजा लेने के लिए यदि ऐसा कोई वीडियो वायरल किया जा रहा है तो इससे किसी की जिंदगी बर्बाद हो सकती है. न खुद ऐसा करें और कोई ऐसा करना चाहता तो उसे रोकें.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें