FATHER’s DAY SPECIAL- अपने FATHER से ये 10 बातें चाहती है एक युवा लड़की

981
Alia Bhatt with Mahesh Bhatt-10 things a daughter expect from her father
Alia Bhatt with Mahesh Bhatt-10 things a daughter expect from her father

संयोगिता कंठ:

अक्सर लड़कियां अपने Father को दुनिया का बेस्ट पापा मानती हैं.  दूर जाए तो स्नेह, ममता और चिंता में डूबे पापा की आंखें उसे हर वक्त याद आती रहती हैं.

Father जिसके पास उसके हर सवालों का जवाब रहता है, जिनसे हर फरमाईशों को पूरा करने की जिद्द की जा सकती है, मम्मी से छुपकर जिनसे अपनी हर बात मनवाई जा सकती है.




पापा के लिए जज्बात जाहिर करने पर एक बेटी के मन में भावनाओं का ज्वार आ जाता है, क्योंकि पिता ने कब उसके लिए अपनी भावना को उजागर किया? पिता की भावनाएं तो मानो बच्चों के लिए अदृश्य रहती है. फिर भी Father’s Day पर हमने कोशिश की एक युवा लड़की से यह जानने कि कोशिश की वह अपने Father से क्या चाहती हैं?

READ THIS: आजादी और बंदिशों के बीच कैसे SAFE रखें टीनएज बच्चों को

1- शाम को Father घर आएं तो उससे दिन भर की गतिविधियों के बारे में पूछे और खुलकर अपनी समस्या बता सकें. वो चाहती हैं कि पिता उसके साथ समय गुजारें और वो उनसे दुनिया भर की बातें करें.




2-Father-daughter relationship उसे बहुत खूबूसरत लगता है. पापा पर उसे सबसे ज्यादा भरोसा है इसलिए उसे लगता है कि पापा ही उसे सबसे बेहतर समझें.

3- पापा भी बेटी पर भरोसा रखें, उसे आजादी दे अपने पंख फैलाने की. आजादी का मतलब केवल मनपसंद कपड़े पहनने देने या घर में जो मर्जी है वो करने देने की छूट भर से नहीं है. आजादी का मतलब है उसके फैसलों पर अपनी सहमति देना है. वो चाहती है कि पिता उसे Support करें.

Father4-वो उसकी चिंता जरुर करें, लेकिन चौकसी नहीं करें. बेटी को स्वतंत्र रुप से अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी दी. उसे आत्मसुरक्षा के उपाय बताए और कठिन परिस्थितियों में कैसे निबटें इसके बारे में समय-समय पर बताते रहें.

5-बेटी अपने पिता को एक Role Model मानती है इसलिए वो चाहती है कि पिता उसकी तुलना कभी भी उसके भाईयों से नहीं करें न ही उसे बार-बार यह जताने की कोशिश की जाए कि वो लड़की है इसलिए उसकी ज्यादा फिक्र रहती है.

SEE THIS: इस लाइफस्टाइल में कैसे रखें बच्चों को MENTALLY-PHYSICALLY हमेशा फिट

6-बेटी को मनमर्जी शिक्षा हासिल करने और अपना करियर चुनने की आजादी दें. हां रिजल्ट खराब होने पर ये ताना नहीं मारें कि पढ़ाई में तुम पर खर्च करने से अच्छा है कि मैं तुम्हारी शादी जल्दी करवा दूं.




7-बेटी को आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाने के प्रयास करें. बेटी की आर्थिक आत्मनिर्भरता या उसकी आर्थिक आजादी उसके लिए कितना बड़ा संबल है यह Father को समझना चाहिए.

Father8-उसके लिए सोना-चांदी या कोई संपत्ति जमा करने के बजाए उसके शिक्षा पर निवेश करें जिससे उसका भविष्य सोने-चांदी से ज्यादा उज्जवल हो. वह उसके सपनों औऱ आकांक्षाओं को मरने न दे.

9-बेटी को मनपसंद जीवनसाथी चुनने दें. उस पर अपनी पसंद या अपनी मर्जी थोपने के लिए उस पर दबाव नहीं डालें.

10-शादी के बाद बेटी को पराया नहीं मानें. बेटी के लिए हमेशा यह गुंजाइश रखें कि उसका मायका पराया नहीं हुआ.  वो भी मां-बाप के लिए उतनी ही महत्वूपर्ण है जितना कि उनका बेटा. संपत्ति में अधिकार से लेकर मां-बाप को मुखाग्नि देने तक पर उसका अधिकार हो.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें