सैनटरी पैड को टैक्स फ्री करने के सवाल पर WOMENIA के पाठकों ने क्या कहा?

3179
Womenia
views of womenia readers on this issue

वित्त मंत्री अरुण जेटली आज संसद में बजट पेश करेंगे. वित्त मंत्री अपने पिटारे से देश के लिए कई तरह की तरह और सौगात लाएंगे लेकिन बजट की पूर्व संध्या पर  Womenia ने फेसबुक पेज पर अपने रीडर्स से आधी आबादी से जुडा एक अहम सवाल पूछा था-क्या सैनटरी पैड को टैक्स फ्री कर देना चाहिए?

Womenia के इस सवाल पर हमें जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली. तक़रीबन सबने यह माना कि सैनटरी पैड को टैक्स फ्री कर देना चाहिए जिससे सभी महिलाओं को सैनटरी पैड उपलब्ध हो और उन्हें अपनी सेहत की देखभाल का मौका मिल सके.




READ THIS: BUDGET-वित्त मंत्री जी सुनिए- क्या सैनटरी पैड होगा TAX FREE?

हमारी एक नियमित पाठक प्रियंका ओम का कहना है पैड को न केवल टैक्स फ्री किया जाना चाहिए बल्कि फ्री में बांटना भी चाहिए. वहीं अनुराग प्रभाकर कहते हैं कि-बिलकुल फ्री मत कीजिए, नाममात्र का शुल्क लगाइए जिसका यदि टैक्स लगे भी तो उसका बोझ महसूस न हो.




आईए जानते हैं हमारे पाठकों की इस सवाल पर क्या प्रतिक्रिया रही?

महिलाओं की जिंदगी पर असर डालने वाले तमाम मुद्दों पर जोरदार तरीके से अपनी आवाज उठाने वाली गीतांजलि गिरवाल भी इसे टैक्स फ्री करने के पक्ष में है. पत्रकार श्वेता आर रश्मि ने तो पहले भी लेख के जरिए इस पर अपनी बात उठा चुकी हैं. वे मानती हैं कि इस पर लगा जीएसटी तुरंत हटाया जाना चाहिए.




अभया श्रीवास्तवा, शर्बानी शर्मा कहती हैं हां टैक्स फ्री होना चाहिए, आरती आलोक वर्मा, कला रॉय, शास्वती डे, सोनिया सिंह, कविता शर्मा, नूतन शर्मा, अभिलाषा सिंह, साधना कृष्णा, गीता गुप्ता साहू, रिजवाना रानी, रचना प्रियदर्शिनी, गरिमा श्री तिवारी, रेणू वाही, कुसुम चौधरी, आरती तिवारी और सुधा सिंह ने भी सैनटरी पैड को टैक्स फ्री करने की बात कही है.

MUST READ: ANANDI SANITARY NAPKIN-जिसने दिया है झूंझनू की महिलाओं को स्वस्थ रहने का मंत्र

शालिनी रमा सिंह का कहना है-बिल्कुल बहुत जरूरी है टैक्स हटाना जिससे सभी औरतों तक इनकी सस्ते मूल्य पर उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके. वहीं कमलेश भरतिया का मानना है कि सरकारी नीतियों पर इसे फ्री किया जाना चाहिे.

पत्रकार अनामी शरण बबल कहते हैं जरुर टैक्स फ्री होना चाहिए. वहीं राजनिवास चौहान भी इस बात से सहमत हैं.  सुबोध मिश्रा, ईश्वर नाथ झा, विकास झा, रवि राय, जस जग्गी, मनीश मित्तल, कुणाल किशोर विद्यार्थी, वी पी दिलेंद्र, प्रभोजोत, कुमुद मिश्रा, जी कुमार, जुनैद फरहान, प्रकाश श्रीवास्तव, सुमीत बनर्जी और राजीव कुमार भी कहते हैं कि सैनटरी पैड को टैक्स फ्री किया जाना चाहिए.

इस बेहद महत्वपूर्ण मुद्दे पर अपनी राय रखने के लिए हम अपने सभी पाठकों के शुक्रगुजार हैं. ….

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें