राजस्थान के हर स्कूल-कॉलेज में लड़कियों को मिलेगा फ्री सैनटरी पैड-SUMAN SHARMA

74
Prof. Alpana Kateja with Suman Sharma
Prof. Alpana Kateja with Suman Sharma

संयोगिता कंठ:

जयपुर:

राजस्थान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष Suman Sharma का कहना है कि  महिलाओं को ‘Health and Hygiene’ के मुद्दे पर महिलाओं को खुलकर बोलना चाहिए. खासकर पीरियड के मुद्दे पर, क्योंकि यह शर्म का नहीं बल्कि खुल कर बोलने का विषय है. यदि इसमें महिलाएं शर्म और संकोच में बैठी रहीं और इस दौरान सैनटरी पैड का इस्तेमाल नहीं किया कई तरह की बीमारियों का शिकार हो सकती हैं.

Must Read: #MyFirstBlood-पीरियड कोई TABOO नहीं है मगर लोगों की नज़र में इससे ज्यादा कुछ नहीं?

वे यहां University Maharani College और Womeniaworld.com की ओर से ‘Women Health and Hygiene’ विषय पर आयोजित सेमिनार में बोल रही थीं. उन्होंने छात्राओं को उनके जीवन में सेनेटरी पैड के महत्व के बारे में बताते हुए कहा कि इसका उपयोग महिलाओं को बीमारियों से बचाता है.

सुमन शर्मा ने कहा कि लड़कियों की इस जरुरत को देखते हुए इस बार बजट में वसुंधरा सरकार ने हर स्कूल और कॉलेज में लड़कियों को मुफ्त सैनटरी पैड बांटने का प्रावधान रखा है. साथ ही इस विषय की महत्ता को बताने वाली फिल्म ‘पैडमैन’ को भी टैक्स फ्री कर दिया गया है.

Read this: #MyFirstBlood-भैया मज़ाक में कहते अछूत हो गई तो लगता पीरियड होना CRIME है क्या?

उन्होंने Womeniaworld.com के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे विषय पर जागरुकता फैलाना जरुरी है और इस बात के लिए Womeniaworld.com का यह प्रयास काबिले तारीफ है.

एमजीएम कॉलेज की प्रोफेसर डॉ उषा शेखावात ने कहा कि महिलाओं को अपने हाईजीन का ध्यान रखना चाहिए नहीं तो उनकी सेहत को गंभीर खतरा हो सकता है. उन्होंने कहा कि हेल्थ और हाईजीन एक दूसरे से जुड़े हैं.

 

डॉ शेखावत ने कि महिलाओं को वजाइनल इंफ्केशन होने का सबसे ज्यादा डर रहता है और इसकी वजह है पीरियड में साफ-सफाई का नहीं रखना. उन्होंने बताया कि उनके पास सिर्फ ग्रामीण नहीं बल्कि शहरी इलाकों की भी ऐसी महिलाएं आती हैं जो इस दौरान साफ-सफाई के महत्व को नजरअंदाज करती हैं.

PERIOD पर चुप्पी तोड़ना क्यों है जरुरी?

उन्होंने कहा कि अभी भी पीरियड को लेकर ज्यादा ब्लड जाने से महिलाओं में एनिमिया का खतरा पैदा होता है इसलिए इस दौरान पोषक तत्व लेने के साथ-साथ हाईजीन का ध्यान रखना जरुरी है.

जयपुर के जनाना हॉस्पिटल की सीनियर कंसल्टेंट डॉ अजय कुशवाहा ने भी इस बात पर जोर दिया कि महिलाओं को इस दौरान साफ-सफाई का ध्यान रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि उनके पास कई ऐसे पेशेंट आती हैं जिनका वजाइनल इंफेक्शन जल्दी इसलिए ठीक नहीं होता क्योंकि वे पीरियड में हाईजीन का ध्यान नहीं रखतीं.

महारानी कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोफेसर अल्पना कटेजा ने बताया कार्यक्रम की शुरुआत में अतिथियों का स्वागत किया. उन्होंने Womeniaworld.com के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि Health and Hygiene विषय पर चर्चा इसलिए जरुरी है कि एक स्त्री स्वस्थ रहती है तो परिवार स्वस्थ रहता है.

उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में लड़कियां इस मुद्दे पर चर्चा सुनने के लिए कॉलेज पहुंच गई हैं यह इस बात का संकेत है कि लड़कियों में इस बात पर जागरुकता फैल रही हैं और वे इसे गंभीर विषय मानती हैं.

Womeniaworld.com  की संपादक प्रतिभा ज्योति ने बताया कि वुमनिया महिलाओं से जुड़े वो हर मुद्दे उठाता है जो उनकी जिंदगी पर असर डालते हैं. महिलाओं का हेल्थ और हाईजीन भी ऐसा ही विषय है जिस पर हर घर में बात होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जाने-अंजाने महिलाएं अपने स्वास्थय का ध्यान नहीं रखतीं और कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाती हैं.

Pratibha Jyoti

प्रतिभा ने कहा कि मेंस्ट्रअल हाइजीन भी ऐसा ही विषय है जिस पर ज्यादा बात नहीं होती. उन्होंने बताया कि वुमनिया ने इसे मुद्दा बनाया और दिसंबर में उत्तर प्रदेश की दो संस्थाओं के साथ मिलकर इस पर एक कैंपेन चलाया. महिलाओं में जागरुकता फैलाने के लिए इस तरह का कैंपेन आगे भी चलेगा.

टैरो कार्ड रीडर और एस्ट्रोलोजर हिमानी अज्ञानी ने वोट ऑफ थैक्स देते हुए कहा कि यह हैरानी की बात है कि हम महिलाएं खुद ऐसी बातों से अंजान रहती है कि हमें किस तरह अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस विषय पर अधिक से अधिक बात होनी चाहिए जिससे महिलाओं में जागरुकता फैले.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें