बेंगलुरु के SRI RAJARAJESHWARI TEMPLE ने महिलाओं के लिए कैसा DRESS CODE तय किया ?

66
Sri Rajarajeshwari Temple
Sri Rajarajeshwari Temple

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के Sri Rajarajeshwari Temple ने वहां दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए Dress Code जारी किया है. मंदिर प्रशासन ने महिलाओं के मंदिर में प्रवेश करने के लिए कई शर्तें रखी हैं. मंदिर में प्रवेश पाना है तो महिला भक्तों को पारंपरिक कपड़े पहनने के अलावा अपने बाल भी बंधे रखने होंगे. छोटी बच्चियों को फुल लेंथ गाउन पहनना होगा.




मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यदि किसी महिला भक्त के बाल खुले होंगे तो उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा. मंदिर में महिलाओं को तभी एंट्री मिलेगी जब उनके बाल रबर बैंड या रिबन से बंधे होंगे. ये ड्रेस कोड बेंगलुरु के श्री राजराजेश्वरी मंदिर (Sri Rajarajeshwari Temple) प्रशासन ने तय किया है. भक्तों के लिए Dress Code का यह बोर्ड बाहर लगा है.




ड्रेस कोड के मुताबिक महिलाओं को मंदिर परिसर में स्लीवलेस टॉप, लो वेस्ट जींस, शॉर्टस, छोटी टीशर्ट और मिनी स्कर्टस पहनकर प्रवेश करने की इजाजत नहीं मिलेगी. उन्हें साड़ी या चूड़ीदार सलवार-कुर्ती के साथ दुपट्टा ओढ़ने पर ही प्रवेश की इजाजत होगी.

READ THIS: कोई भय या नरक में जाने का डर, आखिर TEMPLE में लोग क्यों झुक जाते हैं?

बोर्ड में साफ लिखा है कि सिर्फ पारंपरिक ड्रेस कोड वाले भक्तों को ही प्रवेश दिया जाएगा. ये Dress Code पुरुषों पर भी लागू होंगे. पुरुषों को धोती या पैंट पहने होने पर ही मंदिर में प्रवेश मिलेगा. जींस टी-शर्ट या बरमूडा पहने होने पर प्रवेश की इजाजत नहीं मिलेगी.



वहीं 18 साल से कम उम्र की बच्चियों के लिए भी कुछ नियम बनाए गए हैं. इन बच्चियों को फुल लेंथ का गाऊन पहनने पर ही मंदिर में प्रवेश की अनुमति मिलेगी. मंदिर के स्टाफ का कहना है कि यह नोटिस कई महीने पहले लगाया गया है.

MUST READ: भगवान शिव की नगरी UJJAIN के बारे में जानिए ये खास बातें…

मंदिर ट्रस्ट के सदस्य हयाग्रीव अचर कहते हैं कि संस्कृति के पालन के लिए यह जरुरी है. यह कोई नहीं बात नहीं है. उनका कहना है कि हमने नोटिस किया है कि अक्सर युवा पीढ़ी छोटे कपड़ों में मंदिर में प्रवेश करती है. हमने यही कहा है कि मंदिर में ऐसे कपड़े नहीं पहने.

हालांकि मंदिर के स्टाफ का कहना है कि अभी तक किसी ऐसे भक्त को मंदिर में प्रवेश करने से नहीं रोका गया है जिन्होंने ड्रेस कोड का पालन नहीं किया है, लेकिन भक्तों से अनुरोध किया जा रहा है कि वे ड्रेस कोड का पालन करें.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें