WORK PRESSURE से 14 साल की रुसी मॉडल की चीन में मौत, कंपनी ने किया आरोप खारिज

93
Work Pressure
Vlada Dzyuba

Work Pressure ने रुस की एक 14 साल की मॉडल की जान ले ली. मॉडल वलादा डीजुबा की मौत चीन में कई दिनों तक लगातार कैटवॉक करने के कारण हो गई.  चीन की एक जानी-मानी मॉडलिंग एजेंसी के बुलाने पर मॉडल तीन महीने के कांट्रैक्ट पर काम करने वहां गई थी. हालांकि मॉडल का प्रतिनिधत्व करने वाली चीन की एजेंसी ने इस तरह के आरोप को खारिज कर दिया है.




इस मॉ़ल ने शंघाई में एशिया फैशन शो में आखरी बार कैटवॉक की. उस दिन वह 13 घंटे लगातार काम करती रही. बाद में अपने कैटवॉक से ठीक पहले गिर पड़ी और कोमा में चली गई. वलादा को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वह कोमा से बाहर नहीं आ पाई. दो दिनों बाद उसकी मौत हो गई.

डॉक्टरों के मुताबिक वलादा डीजुबा अत्यधिक थकावट और मेनिन्जाइटिस से पीड़ित थी जिसमें तेज बुखार आ जाता है, इस वजह से उसकी मौत हो गई. कैटवॉक पर जाने से पहले उसे तेज बुखार था. 

MUST READ: #MeToo CAMPAIGN को मिला बॉलीवुड अभिनेत्रियों का समर्थन

 

मॉडल को स्लेव लेबर (गुलाम मजदूर) नाम के कांट्रैक्ट पर चीन लाया गया था. उसे स्वास्थय बीमा जैसी सुविधाएं तक नहीं हासिल थी. अधिकारियों का कहना है वलादा को हफ्ते में सिर्फ तीन घंटे काम करने की अनुमति थी और उसे बीमा भी मिलना चाहिए था.




रुस ने मांग की है कि जांच की जाए कि मॉडल की किन स्थितयों में शंघाई में रखा गया था. वलादा डीजुबा की मां ओकेसाना रोते हुए बताती है कि चीन से उनकी बेटी फोन करके कहती थी, मां मैं बहुत थकी हुई हूं और खूब सोना चाहती हूं. ओकेसाना के मुताबिक यह वलादा की बीमारी की शुरुआत थी और बाद में उसका बुखार बढ़ गया.




इस महीने की शुरुआत में 5 अक्तूबर को जापान में भी Work Pressure से मौत का एक मामला सामने आया था. एक महीने में 159 घंटे ओवरटाइम करने के चलते एक युवा महिला पत्रकार की मौत हो गई. पत्रकार का नाम मिवा सादो था. मिवा जापान के नेशनल ब्रॉडकास्टर एनएचके के साथ करती थी. एक महीने में उसे सिर्फ दो दिन की छुट्टी दी गई थी.

(साभार-हिंदुस्तान)

 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें