RASHTRA SEVIKA SAMITI-जहां शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक विकास एक साथ

690
Rashtra Sevika Samiti
Rashtra sevika samiti- organised training camp for girls and women

Rashtra Sevika Samiti (राष्ट्र सेविका समिति) के प्रवेश वर्ग में आईं लगभग 300 बालिकाएं, किशोरियां और महिलाएं 15 दिन के प्रशिक्षण शिविर में सोने से कुंदन बनकर निखरीं.

19 मई को जब वो प्रवेश वर्ग में आईं थीं तो उन्हें यह अंदाज भी नहीं था की वो यहां से वे अपना शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक और आध्यात्मिक विकास एक साथ कर सकती हैं.




15 दिन यहां रहकर उन्होंने न केवल अपने देश की महान संस्कृति के बारे में जानकारी प्राप्त की बल्कि देश की महान विभूतियों के बारे में भी जानकारी प्राप्त की. प्रवेश वर्ग में 14 वर्ष से लेकर लगभग 55 वर्ष तक आयु सीमा होती है.
यहां एक साथ रहकर उन्होंने सामाजिक समरसता, आत्मनिर्भरता,आत्मरक्षा और आत्म स्वाभिमान जैसे गुण सीखे.

15 दिन के प्रवेश वर्ग का 2 जून को समापन हुआ. समापन कार्यक्रम की अध्यक्षता शहीद राजगुरु कॉलेज ऑफ़ अप्लाइड साइंसेज फॉर वीमेन की प्रिंसिपल डॉ. पायल मग्गो ने की.




READ THIS: TEEJAN BAI- जीवन में सार्थकता की तलाश जितना पुरुषों के लिए ज़रूरी उतना ही स्त्रियों के लिए भी

उन्होंने कहा कि आज के समाज में महिलाओं की जो रक्षात्मक स्थिति है ऐसे वर्गों से उनका सशक्तिकरण होता है, जिसके माध्यम से वो समाज को सही दिशा देने में सक्षम होती हैं.

इसके लिए कोई अलग से नीति बनाने की आवश्यकता नहीं है, हमें महत्वपूर्ण शिक्षा देकर उन्हें सशक्त करना चाहिए. उसके बाद बालिकाओं को जो करना है उसे वह स्वयं तय करेंगी. इस वर्ग से जो छात्राएं निकलेंगी यह तय है कि वो अपनी रक्षा स्वयं कर सकेंगी.




कार्यक्रम की मुख्य वक्ता अखिल भारतीय तरुणी प्रमुख सुश्री भाग्यश्री साठे ने कहा की यह प्रवेश वर्ग बालिकाओं और महिलाओं के जीवन को नयी दशा और दिशा देते हैंI छोटी बालिकाओं के मन मस्तिष्क में जो बीज बो दिया जाता है वही उनकी जीवन यात्रा का मजबूत आधार बनता है.

SEE THIS: कौन सी राह बेहतर-WORKING या HOUSEWIFE रहने की?

वे यह सीखकर जाती हैं की जीवन केवल अपने लिए नहीं होता बल्कि वह समाज और देश के लिये भी होता है. जिस तरह का प्रशिक्षण शिविर में दिया जाता है वो अच्छे नागरिकों का निर्माण करता है जो देश के समग्र विकास में सहायक सिद्ध होता है.

Rashtra Sevika Samiti की दिल्ली प्रान्त कार्यवाहिका श्रीमती सुनीता भाटिया ने कहा कि हमारे शिविर महिलाओं के भीतर छुपी शक्ति और प्रतिभा को ऐसे ही जागृत करते हैं जैसे कि जामवंत जी ने हनुमान जी की प्रतिभा को जागृत किया थाI

Rashtra Sevika Samiti भारत का ही नहीं बल्कि विश्व का सबसे बड़ा महिला संगठन हैI यह पिछले 82 वर्षों से महिलाओं में मातृत्व, नेतृत्व और कृतित्व के गुण विकसित कर रहा है और साथ ही देश के चतुर्मुखी विकास में अमूल्य योगदान दे रहा है.
प्रवेश वर्ग में बालिकाओं ने नियुद्ध, (जूडो-कराटे), योग, चाप कला, दंड प्रहार, छुरी प्रहार, बाइक स्टंट के सुन्दर प्रदर्शन से सभी को हर्षित कर दिया.
पूर्वी दिल्ली स्थित गीता बाल भारती विद्यालय में संपन्न शिक्षा वर्ग समापन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. निरुपमा गोयल, वर्गाधिकारी डॉ. सीमा कपिला, वर्ग कार्यवाहिका विदुषी शर्मा, प्रान्त प्रचारिका विजया शर्मा, अभिभावक गण के साथ बड़ी संख्या में सम्मानित नागरिक उपस्थित थे.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें