PREGNANCY में कैसी हो आपकी DIET ?

3516
Pregnancy Diets
Pregnancy Diets

 

प्रियंवदा सहाय:

क्या गुड न्यूज है? तो अपना खास ख्याल रखना शुरु कर दीजिए. खूब अच्छा खाइए जिससे कि आपके गर्भ में पल रहे बच्चे को सभी जरुरी पोषक तत्व मिल सके. क्या आप जानती हैं कि इस समय आपको और अधिक विटामिन, मिनरल और विशेष रुप से फॉलिक एसिड और आयरन लेने की जरुरत है.




Pregnancy के दौरान मां को अधिक कैलोरी लेने की जरुरत पड़ती है इसलिए कई बार महिलाएं जंक फूड खाने लगती है. लेकिन डॉक्टरों की राय में प्रेग्नेंसी में जंक फूड का सेवन बहुत कम करना चाहिए क्योंकि इसमें कैलोरी तो ज्यादा है लेकिन पोषक तत्व कम या नहीं के बराबर होते हैं जो बच्चे के लिए फायदेमंद नहीं है.




Pregnancy में कैसी हो आपकी डाइट ?

रोज़ाना अपने खाने में दूध और डेयरी उत्पादों को शामिल करे. खासतौर पर मलाईरहित (स्किम्ड) दूध, दही, छाछ, पनीर लिया जा सकता है. इन खाद्य पदार्थों में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन बी-12 की पर्याप्त मात्रा होती है.




जिन्हें दूध या दूध से बने उत्पाद नहीं पचते हैं वे अपने डॉक्टर से बात करके इसके किसी दूसरे विकल्प को चुन सकती हैं.

फूड में प्रोटीन की मात्रा बढ़ा दें. शाकाहारी महिलाओं को रोजाना दाल और मेवे का सेवन करना चाहिए. रोज 45 ग्राम मेवा और 2/3 कप फलियों की जरुरत होती है. 14 ग्राम मेवे या ¼ ग्राम कप फलियां लगभग 28ग्राम मटन-चिकन या फिश के बराबर मानी जाती है.

खाने में पर्याप्त मात्रा में सब्जियों और फल को शामिल करें जिससे विटामिन, खनिज और फाइबर मिल जाते हैं.

पानी खूब पीएं. उबला या फिल्टर पानी अच्छा रहेगा. घर के बाहर जाते समय अपना पानी साथ लेकर जाएं.

ताजा फलों का रस भी लाभदायक होता है लेकिन इसका सेवन डॉक्टर की राय लेकर करें क्योंकि इसमें चीनी अधिक होती है जो अधिक चीनी बच्चे और मां के लिए अच्छा नहीं होता.

बेशक घर में गर्भवती महिलाओं को अधिक घी के सेवन की नसीहत दी जाती है लेकिन डॉक्टरों का मानना है कि घी, मक्खन, नारियल के दूध और तेल में सैचुरेटेड फैट की मात्रा काफी अधिक होती है जो शरीर के लिए अधिक गुणकारी नहीं होता.

वेजिटेबल ऑयल वसा का एक बेहतर स्रोत है. गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आपको अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में आयोडिन शामिल करने की जरुरत है.

मुमकिन है प्रेग्नेंसी में आपको हर कोई दो लोगों के बराबर खाने की सलाह देंगे लेकिन अपने डॉक्टर की सलाह लिए बिना ऐसा ना करें. प्रेग्नेंट मांओं को छह महीने तक किसी प्रकार की अतिरिक्त कैलोरी की आवश्यकता नहीं होती है. आखिरी तिमाही में रोज केवल 200 अतिरिक्त कैलोरी की जरुरत होती है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें