#MyFirstBlood- शरीर से BLOOD बहता देख लगा कि बस अब तो किसी भी वक्त मरने वाली हूं

2969
Blood
सोनी मिश्रा

#MyFirstBlood कैंपेन की 18वीं कड़ी में आज पढ़िए बिहार के मधुबनी की सोनी मिश्रा के अनुभव. पहला पीरियड हुआ तो शरीर से इतना Blood बहता देखकर उन्हें ऐसा लगा कि मानों उन्हें कोई भयंकर बीमारी हो गई है और वे किसी भी वक्त मौत के मुंह में जा सकती हैं.




सोनी मिश्रा :

मुझे यह देखकर बहुत अफसोस होता है कि पीरियड जैसे प्रकृतिक बदलाव को लेकर आज भी हमारा समाज बहुत दकियानूसी विचार रखता है. कभी शर्म तो कभी अंधविश्वास इसे खुलकर स्वीकारने की आजादी नहीं देता है.




पीरियड की बात को इस तरह छुपाकर रखा जाता है जैसे कितना बड़ा अपराध हो रहा है. आज शिक्षा और मीडिया की वजह से ज्यातर बच्चों को सही उम्र तक आते-आते इसकी थोड़ी बहुत जानकारी हो ही जाती है, लेकिन हमारे समय में ऐसा नहीं था जिसकी वजह से कई बार मामला बहुत गंभीर हो जाया करता था.




MUST READ: #MyFirstBlood- मेरे कपड़ों पर लगे STAIN पर पहली नज़र लड़कों की पड़ी थी, 13 दिन कमरों में बंद रखा

मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ था. उस घटना को याद करने से अब तो बहुत हंसी आती है लेकिन उस समय न जाने कितने आंसू बहाए थे. 14 साल की थी जब मुझे पहला पीरियड हुआ था. मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी. मां ने भी तब तक कुछ नहीं बताया था.

अचानक एक दिन जब मुझे अपने शरीर से इतना Blood निकलता हुआ दिखा तो डर के मारे मैं जम सी गई. कुछ ही पल में समझ गई कि मुझे कोई भयंकर बीमारी लग चुकी है. मन को ये एहसास हुआ कि मामला इतनी भयंकर ब्लीडिंग तक पहुंच गया है अब मेरा बचना भी मुश्किल है.

MUST READ: #MyFirstBlood- ‘उन दिनों’ SCHOOL जाने की इजाजत नहीं मिलती थी तो गुस्सा आता था

फिर क्या था आंखो के आगे अंधेरा सा छा गया था. मैं खूब रोई. कुछ समझ नहीं आ रहा था क्या करना चाहिए कैसे करना चाहिए? मुझे आज भी याद है वो भयानक दिन जब मैं पूरे समय ये सोच-सोच कर रोती रही थी कि मेरे जाने के बाद मेरे दोस्त मुझे कितना याद करेंगे? मम्मी-पापा, दादा-दादी, भाई-बहन सब कैसे रहेंगे, पर मैंने तय कर लिया कि किसी को कुछ नहीं बताऊंगी.

इन सबके बीच खुद को नार्मल रखने का चैलेंज भी था क्योंकि मैंने अपना डर सबसे छुपाने का तय किया था. खैर बड़ी मुश्किल से दिन गुजरा. रात को मैं मम्मी के साथ ही लेट गई थी. मम्मी की नजर मेरे स्कर्ट पर आ पड़े धब्बे पर गई.  वे समझ गईं. फिर उन्होंने मुझे पीरियड के बारे में समझाया कि ये बहुत स्वभाविक है. इस उम्र में आने के बाद हर लड़की को होता है.

MUST READ: #MyFirstBlood-लगातार ब्लीडिंग से सहम गई थी, लगा शायद कोई SERIOUS ILLNESS हो गई है

इतना सुनते ही जैसे मेरे शरीर में जान फिर से लौट आई. मैं बहुत खुश हुई. अब मैं इस खौफ़ से बाहर थी कि मुझे कोई बीमारी नहीं हुई है. मैं बहुत देर तक मम्मी से लिपट कर रोए जा रही थी. तब मां भी इस बात से अनजान ही रही कि ये मेरे दुख के आंसू नहीं हैं बल्कि मौत के मुंह से निकल आने की खुशी में आंख छलक रहे हैं.

बाद मैं मम्मी ने सैनिटरी पैड के बारे में बताया जिसके बाद मेरा खून का धब्बा दिख जाने का डर भी गायब हो गया. बस बाद तक मैं यही सोचती रही कि यदि यही जानकारी मुझे सही समय पर दे दी गई होती तो मुझे इतना खौफ नहीं झेलना पड़ता.

Read this also:

PERIOD DATE शादी से मेल खाए तो करें ये 2 उपाय

क्या आप भी नहीं करती हैं BREAKFAST, तो जानिए क्यों बढ़ सकता है वजन?

MENOPAUSE के बारे में ये 8 बातें जिसका आपको जानना जरुरी है

क्या आपको भी बार-बार HAIR COLORING की आदत, साल में 5 बार से ज्यादा क्यों नहीं करें ऐसा?

TULSI WITH MILK- उबलते दूध में जब डाली जाती हैं तुलसी की पतियां तो होता है चमत्कार

 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

Facebook Comments