#MyFirstBlood-मेरे घरवालों ने मुझे PHYSICAL CHANGES के बारे में बताया ही नहीं था..

1336
Physical Changes
डॉ प्रियंका मिश्रा

#MyFirstBlood की 14वीं कड़ी में आज पढ़िए जमशेदपुर की डॉ. प्रियंका मिश्रा के अनुभव. प्रियंका बताती हैं कि वे पढ़ाई के लिए हॉस्टल जा रही थीं लेकिन तब भी उनके घरवालों ने उन्हें समय के साथ होने वाले Physical Changes के बारे में नहीं बताया था जिसमें पीरियड भी शामिल था. हॉस्टल में सीनियर्स ने इस बारे में बताया तो बात समझ आई. 




डॉ प्रियंका मिश्रा:

बात उन दिनों की है जब नवोदय विद्यालय में मेरा चयन हो गया था और मुझे परिवार से दूर हॉस्टल में जाना पड़ा. परिवार से दूर रहने के दर्द से उबर भी नहीं पायी थी तभी एक दिन अचानक मेरी एक क्लासमेट क्लास में जोर जोर से रोने लगी. हमें लगा उसे घर की याद आ रही होगी.




MUST READ: #MYFirstBlood-खेलना-कूदना, बाहर निकलना सब बंद करवा देते मानो CURFEW लग गया हो

उसे इस तरह रोता देख टीचर ने कारण जानने के लिए अपने पास बुलाया. जब वो उठी तो पूरा क्लास हैरान रह गया. उस लड़की की स्कर्ट गीली थी और पूरे बेंच पर ब्लड फैला हुआ था. टीचर ने उस लड़की की रुममेट को बुलाकर उसे हॉस्टल भेज दिया, लेकिन मेरे मन में ब्लड का आतंक बैठ चुका था.




तरह तरह की आशंकाएं मन में जन्म ले रही थी.  जब हॉस्टल पहुंची तो मेरी भी रुममेट जो मेरी सीनियर थीं’ उसने मुझसे सवालों की झड़ी लगा दी. तुम्हें भी तो पीरियड आता होगा …कब आता है … वगैरा वगैरा …उनकी कोई भी बात मेरे पल्ले नहीं पर रही थी.

जब उन्हें यकीन हो गया कि मैं अब तक इस बारे में कुछ भी नहीं जानती तब वो आगे बढते हुए मेरा यादाश्त खंगालने लगी. मुझसे पूछा घर में दीदी या मम्मी गुरुवार का या मंगलवार का व्रत करती हैं. मेरे हां करने पर बोली कभी-कभी उन्हें पूजा न करते हुए तो देखती होगी. मैं ने फिर ना में सिर हिलाया. 

MUST READ: #MyFirstBlood- पीरियड पर मैंने SILENCE तोड़ दिया,आप कब तोड़ेंगे?

दरअसल मैं उन दिनों टॉमबॉय की तरह रहा करती थी. घरेलू गतिविधियों पर मेरा ज्यादा ध्यान भी नहीं रहता था. इसलिए मैं इन बातों से बिल्कुल अनजान थी.  ऊपर से हद ये कि मैं लगभग उस उम्र में आ चुकी थी इसके बावजूद मेरे घर के लोगों ने मुझे समय के साथ होने वाले Physical Changes के लिए अगाह नहीं किया था.

खैर मेरी सीनियर को जब ये बात पुख्ता हो गई कि मैं वाकई पीरियड के बारे में कुछ नहीं जानती तो उन्होंने मुझे सबकुछ विस्तार से समझा दिया. जब मुझे पीरियड शुरु हुआ तो मैं इसको लेकर मानसिक रुप से तैयार थी और घर में बड़ी बहनें होने के कारण मुझे इससे जुड़ी किसी भी तरह की व्यवस्था में भी दिक्कत नहीं आई.

वैसे मेरे घर में पीरियड को लेकर ज्यादा अंधविश्वास और भ्रांतियों को पालने का माहौल नहीं था. इसलिए पूजापाठ को छोड़कर किसी अन्य तरह की पाबंदी नहीं लगाई गई थी. 

Read this also:

#MyFirstBlood-पीरियड कोई TABOO नहीं है मगर लोगों की नज़र में इससे ज्यादा कुछ नहीं?

#MyFirstBlood-घर के MALE MEMBERS से दूर रहने, TEMPLE के आसपास भी नहीं जाने और खट्टी चीजें खाने से मना किया था

#MYFirstBlood-GRAND MOTHER ने बोला किसी को बताना मत कि तुम्हारा पीरियड शुरु हो गया…..

#MyFirstBlood-पीरियड के तीसरे दिन बाल धोने के बाद BOYS को नहीं छूने और उनसे दूर रहने से क्यों मना किया?

#MyFirstBlood उस दिन नहीं पता था कि ये कम से कम 4 DAYS तक चलता है

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें