कौन है MRIGANKA SINGH जिसे भाजपा ने बनाया उप्र के कैराना लोकसभा सीट का उम्मीदवार

2129
Mriganka Singh
Mriganka Singh (Pik Courtesy: FB Page)

भारतीय जनता पार्टी ने Mriganka Singh को उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए अपना प्रत्याशी घोषित किया है. कैराना के पूर्व बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के निधन के बाद यह सीट फरवरी से खाली थी. मृगांका दिवंगत सांसद हुकुम सिंह की बेटी है.

Mriganka Singh
दिवंगत सांसद हुकुम सिंह

भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने मंगलवार को Mriganka Singh के नाम पर अपनी मुहर लगाई. कैराना लोकसभा सीट पर जाट और गुर्जरों का दबदबा है. वो यहां किसी भी पार्टी की तकदीर बदलने की क्षमता रखते हैं.

अब तक भाजपा को इनका साथ मिलता रहा है. मृगांका सिंह को यहां से उतार कर भाजपा ने इसी वोट बैंक पर अपनी नजर गड़ा दी है.  मृगांका को भी परिवार की लंबी सियासी पृष्ठभूमि का फायदा मिल सकता है. 28 मई को उपचुनाव होने हैं और मतों की गिनती 31 मई को होगी.

Mriganka Singh पेशे से समाजसेविका और बिजनेसवुमन हैं. वे महिला सशक्तीकरण के लिए भी काम करती हैं. गाजियाबाद और मुजफ्फरनगर में मृगांका पांच स्कूल चलाती हैं. गाजियाबाद और मुजफ्फरनगर में कई स्कूल चलते हैं.




READ THIS: ये है…… ANUPRIYA PATEL के गोद लिए आदर्श गांव ‘ददरी’ का हाल

Mriganka Singh
Pik Courtesy: FB Page Mriganka Singh

उनके स्कूल का नाम देहरादून पब्लिक स्कूल (डीपीपीएस) है.  उनके स्कूल में करीब 9 हजार बच्चे पढ़ते हैं. मृगांका सिंह का जन्म मेरठ में हुआ. उन्होंने अपनी पढ़ाई लिखाई अजमेर के प्रतिष्ठित शोफिया गर्ल्स कॉलेज और मेरठ के चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से की है.




उनकी शादी गाजियाबाद के बिजनेसमैन सुनील सिंह के साथ 1983 में हुई थी. 1999 में रोड एक्सीडेंट में उनके पति की मौत हो गई. मृगांका की तीन बेटियां और एक बेटा है.

Mriganka Singh
Mriganka Singh In her Daughter Wedding

मृगांका पहली बार चुनाव नहीं लड़ रही हैं. वे 2017 में कैराना विधानसभा उपचुनाव भी लड़ चुकी हैं लेकिन वे समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार चुनाव हार गई थीं.




मृगांका सिंह को चुनाव जिताने के लिए भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक मंत्रियों और विधायकों की फौज ने क्षेत्र में डेरा डाल लिया है.

Mriganka Singh
Pik Courtesy: FB Page Mriganka Singh

बीजेपी को चुनौती देने के लिए राष्ट्रीय लोकदल और समाजवादी पार्टी ने लंबी जद्दोजहद के बाद गठबंधन कर लिया है. इस सीट से विपक्ष की साझा उम्मीदवार के रुप में रालोद ने पूर्व सांसद और हाल ही में समाजवादी पार्टी से पार्टी में शामिल हुईं तबस्सुम हसन को अपना प्रत्याशी बनाया है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें