MENSTRUAL HEALTH- किन योगासनों से मिलता है माहवारी की तकलीफ से आराम?

1141
Menstrual Health
yoga play an important role in the menstrual health

Menstrual Health एक ऐसा विषय है जिस पर ज्यादा बात नहीं की जाती. लेकिन देश की पहली पैड वुमन Prachi Kaushik लगातार इस विषय पर लोगों को जागरुक बनाने का काम कर रही हैं.




Menstrual Health पर लोगों को जागरुक बनाने के लिए जहां वे एक तरफ पर्यावरण के अनुकूल सैनटरी नैपकिन के इस्तेमाल पर जोर देती हैं वहीं दूसरी तरफ साफ-सफाई रखने से लेकर इस दौरान अपने स्वास्थय की देखभाल के बारे में भी लोगों को बताती है.

Menstrual Health पर जागरुकता फैलाने उद्देश्य से उनकी संस्था Vyomini Social Enterprise ने 14 जून को मोरार जी योगा इंस्टीच्यूट में एक वर्कशॉप का आयोजन किया. वर्कशॉप में 200 महिलाओं ने हिस्सा लिया.




वर्कशॉप में Morarji Desai Yoga institute  के Yoga trainer ने  Chair Asana, Butterfly Asana, Samasthiti, Taad Asana, Bhadra Asana जैसे आसनों के बारे में बताया जिससे Menstrual Health को दुरस्त रखा जा सकता है.

MUST READ: PRACHI KAUSHIK- कैसे बनीं देश की पहली PAD WOMAN

प्राची कौशिक ने बताया कि योगा Menstrual Health से लेकर महिलाओं के स्वास्थय के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और वे इस तरह के और वर्कशॉप आयोजित करने की कोशिश करेंगी जिससे कि महिलाओं को फायदा मिले.




वर्कशॉप के बाद महिलाओं की काउंसलिंग भी की गई जिसमें उन्होंने माहवारी के दौरान होने वाली अपनी दिक्कतों के बारे में बताया. महिलाओं ने जाना कि वे कैसे खुद ही Sterilized Pads बना सकती हैं और इस दौरान उन्हें अपने खान पान का किस तरह का ध्यान रखना चाहिए.

यहीं हुए एक दूसरे कार्यक्रम में Vyomini Social Enterprise और NEISBUD ने संयुक्त रुप से मिलकर महिला उद्यमियों के लिए एक चर्चा का आयोजन किया. इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि दिल्ली की भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी थीं.

मीनाक्षी लेखी  Vyomini Social Enterprise के साथ मिलकर महिलाओं को सैनटरी पैड उपलब्ध कराने की दिशा में भी काम कर रही हैं. मीनाक्षी लेखी ने महिलाओं को यह आश्वासन दिया कि वे महिला उद्यमियों को बढ़ाने के लिए हर संभव मदद करेंगी.

READ THIS: ANANDI SANITARY NAPKIN-जिसने दिया है झूंझनू की महिलाओं को स्वस्थ रहने का मंत्र

इस मौके पर  Vyomini Social Enterprise की संस्थापक और निदेशक प्राची कौशिक ने महिलाओं को अपना बिजनेस शुरु करने के कई गुर सिखाए. उन्होंने महिलाओं को सैनटरी नैपकिन बनाने के अपने यूनिट पर विजिट करने का निमंत्रण भी दिया.

‘व्योमिनी’ नामक सामाजिक संस्था भारत के 10 राज्यों में सेनेटरी पैड उत्पादन, मार्केटिंग के माध्यम से 2 लाख से अधिक महिलाओ को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप में रोज़गार उपलब्ध करवा रही है.

प्राची कौशिक को ‘100 वीमेन फेसेस ऑफ इंडिया’ में स्थान दिया गया. पी एम युवा प्रोग्राम फॉर यंग एंटरप्रेनर मेंटर के ख़िताब से नवाज़ा गया है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें