#bloodnormal campaign-पहली बार पीरियड पर बने किसी एड में नैचुरल दिखा-IT’S RED NOT BLUE

249

It’s Red, Not Blue-पहली बार पीरियड पर बने किसी Advertisment या विज्ञापन में पीरियड का नैचुरल कलर दिखाया गया है. अब तक टीवी पर दिखाए जाने वाले पीरियड पर बने Advertisment में सैनटरी पैड पर ब्लू ड्रॉप गिराकर पैड के ब्लड सोखने की क्षमता को दिखाया जाता है, लेकिन अमेरिका की कंपनी बॉडीफॉर्म ने अपने नए वीडियो कैंपेन से इसे नैचुरली रेड कलर में दिखा रही है.  यह वीडियो कंपनी के  #bloodnormal campaign का हिस्सा है.




MUST READ: ‘महीने की गंदी बात’ को स्वाती ने बना दिया ‘PERIOD ALERT’

 

भारत में अभी भी पीरियड पर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों में ब्लड के बजाए सांकेतिक तौर पर ब्लू ड्रॉप दिखाया जाता है. लेकिन बॉडीफॉर्म के इस विज्ञापन को एक सैनटरी पैड पर ब्लू रंग के बजाए ब्लड गिरते दिखाने से शुरु किया गया है. विज्ञापन का टैगलाइन है-“Periods are normal. Showing them should be too.

बॉडीफॉर्म पहला ब्रांड है जिसने पिछले साल अपने पीरियड के विज्ञापन में रेड कलर दिखाया था. मार्केटिंग मैनेजर Traci Baxter का कहना है कि हम मानते हैं कि ज्यादा से ज्यादा लोग इसे देखें और यह विषय सामान्य हो जाए. विज्ञापन का मकसद पीरियड को लेकर समाज में बने टैबू को खत्म करना है जिससे लोग इस पर खुलकर बात करने में नहीं हिचकें.




MUST READ: PERIOD हो जाए तो पापा को पानी भी नहीं पिला सकती

 

इसलिए विज्ञापन के एक स्लाइड में एक पुरुष को सैनटरी पैड खऱीदते दिखाया गया है.एक दूसरे स्लाइड में फैंसी ड्रेस पार्टी में एक व्यक्ति को सैनटरी पैड के कास्ट्यूम में दिखाया गया है. विज्ञापन में पीरियड को नैचुरल बताते हुए एक स्लाइड में औरत  के शरीर से ब्लड को गिरते दिखाया गया है. इस दृश्य का मकसद यह दिखाना है कि ऐसा होना उन्हें असहज बना देता है. 




हालांकि इस विज्ञापन को लेकर तरह-तरह के कमेंट भी किए जा रहे हैं. लोगों का मानना है कि कई बार चीजों को इस तरह खुल कर दिखाने की जरुरत नहीं पड़ती, संकेत में दिखाए जाने से भी बात समझ में आती है. 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

 

Facebook Comments