BRA को लेकर कहीं आपको भी तो नहीं हैं ये 5 MYTH

5644
bra myths

लड़कियों और महिलाओं के सजने संवरने में जितनी भूमिका डिजायनर ड्रेस और मेकअप की होती है, उतना ही अहम रोल Bra का भी होता है. सच मानिए तो ब्रा ही आपकी ड्रेस और आपके लुक को आकर्षक बनाती है, लेकिन ब्रा को लेकर हम में से ज़्यादातर गलतफहमियों के शिकार भी होती हैं और हर वक्त हमारा ध्यान केवल ब्रा को लेकर लगा होता है.

खासतौर से जब भी आकर्षक ब्रेस्ट की बात हो तो ,लेकिन कई बार ब्रा की वजह से आपको परेशानियां भी हो सकती है. ब्रा को लेकर लड़कियों  में बहुत से मिथ यानी भ्रम होते हैं. ब्रा को खरीदने और इस्तेमाल से पहले उन्हें समझ लेना भी ज़रुरी है .

फसाना और हकीकत

मिथ-1: ब्रा पहनने से ब्रेस्ट का साइज अच्छा रहता है.

हकीकत : हकीकत में आमतौर पर कोई भी  ब्रा  ब्रेस्ट के साइज और आकार को सही रखने  में कोई मदद नहीं करती है. यह सही है कि ब्रा पहनने से ब्रेस्ट्स का भार पीठ की तरफ हो जाता है और उनको सही सपोर्ट मिलता है लेकिव लंबे समय तक पहनने के बावजूद ससे साइज को फिट रखने में कोई मदद नहीं मिलती. बेहतर होगा कि इसके लिए आप कुछ एक्सरसाइज करें. यदि जिम जाती हैं तो आपकी ट्रेनर आपको एक्सरसाइज बता दें, उससे आपको साइज और टोन में मदद मिलेगी.

मिथ-2: शरीर का वज़न कम होने या बढ़ने पर ब्रा साइज़ को बदलने की ज़रुरत नहीं.

हकीकत:  ब्रा साइज बहुत अहम है, इसलिए बाज़ार में ब्रा के साइज नंबर के अलावा कप साइज भी अलग अलग होते हैं.लड़कियों को ब्रा का साइज नंबर बदलने से लगता है कि वे मोटी हो रही हैं, ऐसे में वे ब्रा नंबर बदलने से पहले कप साइज को बदल कर भी काम चला सकती हैं. फिटनेस एक्सपर्ट मानती हैं कि वज़न बढ़ने और कम होने पर ब्रा साइज़ में भी बदलाव आता है, अगर आपका वजन तीन किलो से कम होता या ज़्यादा होता है तो आपकी ब्रा साइज़ को बदलना ज़रुरी होगा. Breast Fat टिसूज़ से बने होते हैं और जब शरीर का फैट ज़्यादा होता है तो ब्रा का साइज़ भी बढ़ जाता है. इसलिए एक ही साइज की ब्रा पहनने या नंबर नहीं बदलना कोई समझदारी नहीं हैं और साइज नहीं बदलने से आपकी बॉडी और ड्रेस अजीब लगेगी. साइज के साथ सात ब्रेस्ट टोनिंग और मसाज पर ज़रुर ध्यान दें .याद रखें शादी के कुछ महीनों बाद आपका ब्रा साइज ज़रुर बदल जाता है.




RELATED TO THIS: BRA से जुड़ी ये बातें आपका जानना क्यों जरुरी है?

 

मिथ-3: रात में सोते वक्त ब्रा पहने रखने से ब्रेस्ट पेर्की होते है.

हकीकत : हर लड़की की इच्छा  होती है कि उसके ब्रेस्ट Perky रहे, सेग ना करें ,लेकिन समझने की ज़रुरत है कि ब्रा केवल Support के लिए होती है और यह ब्रेस्ट को पेर्की नही बना सकती. पेर्की और फर्म ब्रेस्ट के लिए जिमिंग मदद कर सकती है. इसलिए रात को सोते वक्त ब्रा से खुद को फ्री कीजिए. रात भर ब्रा पहनने से कट्स लगने का डर है और खुद को बंधा-बंधा महसूस करेंगी. इससे नींद में भी खलल पड़ती है. वैसे भी रात को अपनी आज़ादी के साथ रहिए.

मिथ-4: वर्कआउट के दौरान आपको स्पोर्ट्स ब्रा पहनने की ज़रूरत नही है.

हकीकत: सुबह से रात तक एक ही तरह की ब्रा से काम नहीं चलाया जा सकता. आमतौर पर लड़कियां डेट और सुहागरात या हनीमून के लिए तो अलग अलग करह की ब्रा खरीदने में देर नहीं लगाती ,लेकिन Workout के लिए वे ब्रा पर पैसा खर्च करना फिजूलखर्ची समझती हैं. जबकि  वर्कऑउट के दौरान या योगा करते वक्त भी आपको स्पोर्ट्स ब्रा पहनने की ज़रूरत है, क्योंकि जिम में वर्कऑउट के दौरान मूवमेंट्स ज़्यादा होते हैं और इसका असर ब्रेस्ट पर ना हो इसके लिए ज़रूरी है आप ज़्यादा से ज़्यादा सपोर्ट वाली ब्रा पहने. साथ ही यदि आपको ब्रेस्ट की नुमाइश नहीं लगानी है जिम में या फिर योगा क्लास में तो भी बेहतर होगा कि आप स्पोर्ट्स ब्रा पहनें ,इससे आप फिट लगेंगी और रहेंगी.




RELATED TO THIS: जो अंदर से फिट वो बाहर से हिट’

 

मिथ-5: एक ही ब्रा को लगातार दो-तीन दिनों तक पहन सकती हैं.

हकीकत :  ब्रा ब्रेस्ट और छाती से जुड़ी रहती है और वहां पसीना सबसे ज़्यादा होता है ,इसलिए सफाई और इन्फेक्शन के लिहाज़ से ब्रा को लगातार दो-तीन पहनना ठीक नहीं होगा. साथ ही यदि लगातार दो-तीन दिनों तक आप एक ही ब्रा पहनती हैं तो ये ब्रा की शेप और उसके अच्छे हालत में रहने की उम्र को कम करता है. ब्रा को कम से कम 24 घंटो के लिए छोड़ा जाना जरूरी है ताकि वो लंबे समय तक इस्तेमाल के लायक रहे और उसे अपने साइज में बने रहने का वक्त भी मिले. वैसे आप एक ही ब्रा को क्यों लगातार पहनना चाहती हैं ? 




बेस्ट ब्रेस्ट के लिए ब्रा का रोल अहम है. इससे आप खुद को ब्यूटीफिल बनाए रख सकती हैं और फिर सेगिंग का डर भी नहीं होगा. कभी ध्यान दिया है कि आप जब खुद को आईने में देखती हैं तो सबसे पहले आप कहां देखती हैं? 

 

 

 

Facebook Comments