REJECTION के बाद भी जिंदगी को खुश होकर जीने के 5 टिप्स

1459
rejection

संयोगिता कंठ:

अक्सर हमने यह सुना है कि किसी आशिक ने प्यार में ठुकरा दिए जाने पर लड़की की हत्या कर दी या उस पर एसिड फेंक दिया. कई बार परीक्षा में फेल होने पर लोग आत्महत्या कर लेते हैं. ऐसा क्यों होता है कि Rejection को स्वीकार नहीं कर पाते. हम सब जीवन में कभी न कभी किसी परीक्षा में असफल हुए होंगे, तो कभी प्यार में ठुकरा दिए गए, तो कभी इंटरव्यू में नकार दिए गए होतें हैं. जिंदगी में मनपसंद चीजें मिलना और नहीं मिलना दोनों ही इसका अहम हिस्सा है.




MUST READ: BE MAD TO ACHIEVE A GOAL-12 GOLDEN SENTENCES

 

हम किसी भी बात पर ‘ना’ सुनकर या नकार दिए जाने पर घबरा क्यों जाते हैं? किसी एक ना से जिंदगी रुकती नहीं? जिंदगी तो बस चलने का नाम है. जीवन में आगे बढ़ने के लिए ‘ना’ को स्वीकार करना जरुरी है. बात चाहे पर्सनल लाइफ की हो प्रोफेशनल. इसके लिए हमें शुरु से ही इस बात के लिए अपने बच्चों को भी तैयार करना चाहिए कि यदि किसी ने ना कहा तो इसका मतलब नहीं कि हम वहीं ठहर जाए. हम सबमें ना सुनने की स्वाभाविक आदत विकसित करनी चाहिए, इससे जिंदगी को खूबसूरत बनाया जा सकता है.

हम आपको बता रहे हैं Rejection सहने के बाद भी जिंदगी में खुश रहने के 5 टिप्स.. ये टिप्स हम लेकर आए हैं ऐसे ही लोगों के अनुभव से जो कभी न कभी रिजेक्शन का शिकार हुए लेकिन आज न केवल कामयाब है बल्कि अपनी जिंदगी से बहुत खुश हैं..




MUST READ: HUSBAND….WISH ME HAPPY HOLIDAYS

 

1-घर में लाड़ प्यार से पले-बढ़े, हर बात हमारी मानी गई, लेकिन जैसे ही घर के दायरे से बाहर स्कूल, कॉलेज पहुंचे किसी ना किसी बात पर ना सुनने लगे. इस ना को सकारात्मक तरीके से लीजिए. यह परिस्थिति आपको आगे बढ़ाने में मददगार होगी.  

2-किसी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल हुए लेकिन सफलता नहीं मिली. तो क्या हुआ…आगे बढ़िए. अपनी क्षमता और योग्यता के हिसाब से अपने लिए करियर बनाने के दूसरे विकल्पों पर विचार करें. एक परीक्षा में फेल होने से जिंदगी की गाड़ी रुकनी नहीं चाहिए.

3-जॉब इंटरव्यू देने गए लेकिन बोर्ड ने आपको नकार दिया, नौकरी नहीं मिली…यहां नहीं मिली तो क्या हुआ? आपके लिए संभावनाओं का अनंत आकाश है, कई मौके आपका इंतजार कर रहे हैं, धैर्य रखिए.




4-आप किसी को पसंद करती हैं. उसके साथ जीवन बिताने के सपने देख रही हैं लेकिन उसने आपका प्रेम प्रस्ताव ठुकरा दिया जाए, तो इसे क्या माने? क्या आप अपने दिल के दरवाजे बंद करके डिप्रेशन में बैठ जाएं? अरे नहीं हताश होने की जरुरत नहीं..आपके सपनों का राजकुमार के आने का वक्त अभी नहीं आया है. यकीन मानिए वक्त आने पर  वो आपको ढूंढते हुए पहुंच जाएगा. 

5-कहीं भी एक बार रिजेक्ट हो गए हों तो निराश होने या नकारात्मकता से घिर जाने के बजाए अपना आत्मविश्वास बढ़ाए, परीक्षा और जॉब इंटरव्यू की तैयारी दोगुने उत्साह से करें. रिजेक्शन को दिल से निकाल दें.  

Facebook Comments