इन SPICES का स्वाद से तो है, पर सेहत से कैसा है नाता?

2120

बिना मसाले या Spices के खाने में कोई स्वाद नहीं आता. यूं कह सकते हैं कि बिना Spices के बिना खाने का मजा अधूरा है. खाने में मजा और स्वाद के लिए हम मसालों का उपयोग तो करते हैं लेकिन क्या जानते हैं कि इनका सेहत और स्वाद के साथ कैसा नाता है?

मेथी: मेथीदाना ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर कम करने में मददगार है. यह पाचन संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है. मेथी के दाने और पत्ते प्राकृतिक लैग्जेटिव के रुप में काम करते हैं. इन्हें खाने से म्यूकस की समस्या भी खत्म हो जाती है.एसिडिटी और खट्टी डकारों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खाने-पीने की चीजों में मेथीदाना मिलाएं.

MUST READ: AJWAIN है या कोई जादूगर, कितने फायदे छुपाए अपने अंदर

थोड़े से मेथीदाने को रात भर भिंगो कर रखने और सुबह पीस कर बालों में लगाने से रुसी दूर हो जाती है. चेपरे पर मेथी की पत्तियों का लेप लगाने से जले के निशान, एग्जीमा, मुंहासे और ब्लैक हैड्स की समस्या भी खत्म हो सकती है. अनिमिया की शिकार महिलाओं को इसका इस्तेमाल जरुर करना चाहिए.




जीरा: अक्सर दाल में तड़का लगाने के लिए उपयोग होने वाला ये मसाला भी औषधीय गुणों  का खजाना है. जीरे को रातभर पानी में भिगो कर और सुबह खाली पेट पीने से तेजी से वजन कम होता है. इसके अलावा इससे चेहरे पर नेचुरल ग्लो भी आता है.

READ THIS: TULSI WITH MILK- उबलते दूध में जब डाली जाती हैं तुलसी की पतियां तो होता है चमत्कार

जीरे का पानी पीने से शरीर की अशुद्धियां भी कम होती हैं और सभी प्रकार के इन्फेक्शन की संभावना भी ख़त्म हो जाती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जीरे में एंटी फंगल गुण होते हैं. इसमें त्वचा संबंधी बीमारियों जैसे एग्ज़िमा और सोराइसिस को ठीक करने के गुण होते हैं. डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए जीरा अत्यंत लाभकारी है. यह ब्लड में शुगर लेवल को कम करता है.




इलाइची: बड़ी और छोटी इलाइची का उपयोग अक्सर हम व्यंजन को स्वादिष्ट बनाने में करते हैं लेकिन यह सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है. यदि गले में खराश हो तो सुबह और रात को छोटी इलाइची चबाकर खाने से राहत मिलती है.

READ THIS: रोज करे मखाने का सेवन और यूं रखें DIABETES समेत 5 बीमारियों को दूर

कभी-कभी जी मचलता है या उल्टियां आने पर बड़ी इलाइची को आधा लीटर पानी में उबाल लें और ठंडा कर इसे पिएं तो तुरंत आराम मिलेगा. इलाइची में पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे खनिज पदार्थ मौजूद होते हैं, इसके नियमित सेवन से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है.




दालचीनी: दालचीनी दिल और किडनी के लिए लाभदायक है. इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है. दालचीनी को यदि शहद के साथ लिया जाए तो इससे वजन भी कम होता है और यह ब्लड की अशुद्धियां निकालती है.

दालचीनी सर्दी-जुखाम ठीक करती है. इससे शरीर स्वस्थ रहता है और ये पाचन क्रिया, गैस की परेशानियों से भी राहत दिलाती है. एंटीफंगल, एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होने के कारण ये इन्फेक्शन रोकती है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

Facebook Comments