किचन को MONSOON की नजर से बचाने के 10 TIPS

2 views
kitchen care in monsoon

Monsoon का सुहाना मौसम वैसे तो हर किसी का पसंदीदा होता है,लेकिन भयंकर गर्मी के बाद बरसात का आना एक तरफ जहां सुकून देता है , वहीं बारिश की वजह से होने वाली बिमारियों का आतंक भी बढ जाता है .हम सब जानते हैं कि सेहत का सीधा संबंध हमारे किचन से होता है, ऐसे में यहां का वातावरण स्वच्छ बनाए रखना सबसे अहम हो जाता है .




बरसात के मौसम में नमी बढने से कई तरह के बैक्टीरिया पनपने लगते हैं साथ ही किचन में चिटी कॉकरोच और मकरी भी अपना घर बनाने लगती है. इस स्थिति में थोङी सी सजगता दिखाकर आप अपने किचन को सेहतमंद बनाकर रख सकती हैं.

MUST READ : सावधान! KITCHEN UTENSILS में भी छुपी होती हैं बीमारियां

कैसे रहेगा किचन सेहतमंद  

. किचन में जूठे बरतन रखने से बचें .जूठे बरतन में किटाणु पनपने की बहुत संभावना रहती है. वहीं इन बरतनों की वजह से चूहे ,कॉकरोच भी आने लगते हैं




. बरतन धोने वाले स्पंज में किटाणु तेजी से पनपता है, ध्यान रखें कि स्पंज को कभी गीला या गंदा न छो़ड़ें . काम हो जाने के बाद इसे धो कर और सुखाकर ही रखें. स्पंज हर सप्ताह बदल लें.

.किचन डस्टबिन को फिनाईल या अन्य किटाणुनाशक से रोजाना साफ करें .

.किचन में जाला न लगने दें. यदि आवश्यक हो तो चूहे या क़ॉकरोच मारने वाला किटाणुनाशक का प्रयोग करें .

.किचन टॉवेल को अच्छी प्रकार से धो कर और सुखाकर ही रखें .

. खिड़की खुली रखें ताकि स्वच्छ हवा आती रहे .संभव हो तो किचन की खिङकी में जाली लगवा लें.

MUST READ:क्या किचन में छुपे हैं BEAUTY SECRETS?

.शाम के समय किचन में कर्पूर जलाएं इससे हवा किटाणु रहित होगी और वातावरण खुशबूदार बना रहेगा.

.बरसात के दिनों में प्लास्टिक और लकङी के बने बरतनों का प्रयोग करते हुए विशेष सावधानी रखें. चॉपिंग बोर्ड या बेलन में पड़ी दरार फंगस का घर बन सकता है .




.ज्यादा दिन से खुले हुए मसाले या अन्य सामान का इस्तेमाल न करें .

तो इस तरह किचन में छोटी छोटी बातों का ध्यान रख कर आप बरसात के  खुशनुमा मौसम का पूरा मजा ले सकते हैं .

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे… 

Facebook Comments