आज खुल गए KEDARNATH DHAM के कपाट, कुछ अलग नजर आएगा मंदिर

39
Kedarnath Dham
kedarnath dham-door open for devotees from today

Kedarnath Dham के कपाट आज सुबह श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं. इस मौके पर क़रीब 10 हजार श्रद्धालु मौके थे. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक Kedarnath Dham  के बाहर के कपाट आज सुबह 6.10 बजे विधि-विधान के साथ खोल दिए गए.




कपाट खुलते समय बाएं पट से उत्तराखंड के राज्यपाल केके पॉल ने सबसे पहले दर्शन किए. इसके बाद इसे आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया.

जो भक्त हर साल यहां आते हैं उन्हें इस बार कुछ अलग नजर आया. राज्य सरकार ने केदारनाथ धाम के आसपास निर्माण कार्य कराया गया है जिसकी वजह से यहां कुछ-कुछ बदला नजर आ रहा है. मंदिर के प्रवेश द्वार को खास तौर पर सजाया गया है.




केदारनाथ धाम के बाद भक्तों को बद्नीनाथ के कपाट खुलने का इंतजार है. बद्नीनाथ के कपाट 30 अप्रैल की सुबह खोले जाएंगे. इस साल चार धामों के लिए यात्रा की शुरुआत 18 अप्रैल से गंगोत्री और यमुनोत्री के पट खुलने के साथ ही हो गई है. ऊखीमठ के ओंमकारेश्वर मंदिर से 26 अप्रैल को ही भगवान शिव की पालकी केदारनाथ के लिए रवाना हो गई थी.

केदारनाथ मन्दिर उत्त्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है. उत्तराखंड में हिमालय की गोद में केदारनाथ मन्दिर 12 ज्योतिर्लिंग में एक है. प्रतिकूल जलवायु के कारण केदारनाथ धाम के कपाट अप्रैल से नवंबर महीने तक ही भक्तों के दर्शन के लिए खुले रहते है..




पत्‍थरों से बने कत्यूरी शैली से बने इस मन्दिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पाण्डव वंश के जनमेजय ने कराया था. यहां स्थित स्वयम्भू शिवलिंग अति प्राचीन है. आदि शंकराचार्य ने इस मन्दिर का जीर्णोद्धार करवाया. केदारनाथ की बड़ी महिमा है.

उत्तराखण्ड में बद्रीनाथ और केदारनाथ ये दो प्रमुख तीर्थ हैं. दोनो के दर्शनों का बड़ा ही महत्व है. केदारनाथ के संबंध में लिखा है कि जो व्यक्ति केदारनाथ के दर्शन किये बिना बद्रीनाथ की यात्रा करता है, उसकी यात्रा निष्फल हो जाती है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें