हां.. मैं CHARACTERLESS हूं – POOJA SACHDEVA

980

Poet – Pooja Sachdeva

‘Characterless Pooja Sachdeva’

This rebellious spoken word poem of a girl narrating all the instances when she was harassed will give you cold shivers as you lean in and listen. She further elaborates on things painfully true — how women are regularly shamed and held responsible, for sexual assault, how women are tagged ‘characterless’ on the basis of their clothes, habits and the colour of their lipstick.

Read this also:

शादी की पहली रात सफेद तौलिए पर दिया मैंने VIRGINITY TEST

क्यों बढ़ रहा है महिलाओं के BRANDED कपड़ों का MARKET

प्रेमी सालों तक एक-दूसरे का इंतजार करें, LETTERS लिखें ये सबके बस की बात नही…

MALLIKA DUA-#MeToo-मेरी मां कार चला रही थी और उसका हाथ मेरी SKIRT में था

सेल्फी खींच कर नोवा ने STREET HARASSERS को कैसे सिखाया सबक?

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें