बच्चों के स्कूल की छुट्टी- तो उन्हें इन 5 तरीकों से लेने दें FUN LEARNING का मौका ….

81
Fun Learning
Fun learning activities for the children after school examnation

जूली जयश्री:

बच्चों के स्कूल के एक्जाम्स अब लगभग खत्म हो चुके हैं. पढाई के बोझ से फ्री होकर वे कुछ दिन के लिए खुलकर अपनी मर्जी करने को आजाद हैं. यही समय होता है जब बच्चों को Fun Learning का मौका दिया जा सकता है.




अमूमन यही देखा जाता है कि छुट्टियां शुरु का मतलब हमारे लिए जी भर के सोना टीवी देखना या कहीं घूमने निकल जाना ही होता है. लेकिन ये तौर तरीके आप के बच्चों को जितना रिफ्रेश नहीं करते उससे कहीं ज्यादा उनकी आदत बिगाड़ कर रख देते हैं.




छुट्टियों के बाद बच्चों को वापस रुटीन में लाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है. इसलिए छुट्टियों के दौरान ही यदि उन्हें फन लर्निंग एक्टिविटिज का मौका मिले तो वे उसे इंजॉय करेंगे. ध्यान रखिए पढ़ाई के अलावा भी वो जो कुछ भी करते हैं या देखते हैं इसका गहरा असर उनके मानसिक विकास पर पड़ता है.




READ THIS: INTERNET को कैसे बनाएं बच्चों के लिए उपयोगी ?

अभी बच्चे के साथ साथ आप भी स्कूल के प्रेशर से फ्री हैं बस यही मौका है जब आप उनके साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिता सकती हैं. क्यों न इसके लिए कुछ क्रिएटिव तरीके अपनाएं जाएं जिससे आप का बच्चा बिना किसी बोझ के खेल खेल में भी बहुत कुछ सीख ले.

1-स्टोरी रिडिंग 

Fun Learning
Reading Habit

बच्चों के साथ बैठकर कहानी सुनें और सुनाएं इससे उनमें पढ़ने की आदत विकसित होगी. अच्छी किताबें, मैगजीन और न्यूजपेपर लेकर उनके साथ बैठें.

2- एक्सरसाइज को फन बनाएं  

Fun Learningयाद रखिए मां को कॉपी करना किड्स के लिए सबसे बड़ा रोमांच होता है. इसलिए यदि आप खुद एक्सरसाइज न भी करते हों तो भी उनके साथ करें. एक्सरसाइज ऐसे करें कि उन्हें भी फन आए और आपको भी. इससे बच्चों को भी बड़ी आसानी से एक्सरसाइज की आदत पड़ जाएगी .

3-गार्डेनिंग की अहमियत बताएं

Fun Learningपेड़ पौधों के साथ वक्त बिताना बच्चों को बहुत रोमांचित करता है. गार्डेनिंग के जरिये उन्हें पेड़ पौधों से प्यार करना और उनकी देखभाल करना सिखाएं. इससे आप बच्चों में पर्यावरण और प्रकृति के प्रति प्रेम भी जगा सकती है. उन्हें पौधों में नियमित तौर पर पानी डालने और सूखे पत्तों को चुनने के लिए कहें.

READ THIS:  कैसे करें अपने बच्चों से EFFECTIVE बातचीत?

4- खेलकूद से तो बिल्कुल न करें इंकार

Fun Learningछुट्टियों में बच्चे खेलना चाहते हैं तो आप भी उनके साथ आउटडोर गेम खेलें. उन्हें ग्रुप में खेलने को प्रेरित करें इससे फिजिकल ग्रोथ के साथ साथ सोशल विहेवियर भी डेवलप होगा.

5-घर के कामकाज भी सिखाएं

आमतौर पर हम यह मानते हैं कि बच्चे बड़े होकर खुद अपना काम करने लग जाएंगे, लेकिन जिन बच्चो मे बचपन मे अपना काम करने की आदत नहीं होती है वे बड़े होकर बहुत अपना काम करने में परेशानी महसूस करते हैं. इसलिए उनमें घर के काम करने की आदत अभी से विकसित करें.

जूली जयश्री

बच्चों से आप अपना बिस्तर ठीक करने, नहाने के बाद तौलिया धूप में देने, अपना अंडरगार्मेंट्स धोने, अपनी आलमारी ठीक रखने, अपना कमरा साफ रखने जैसे छोटे-छोटे काम करने को कह सकती है. इन कामो से उनमें आत्मनिर्भरता आएगी और आत्मविश्वास बना रहेगा.

 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें