मां की PAINTING में पांच साल के बच्चे ने नीचे क्यों लगा दिया RED निशान?

2465

हिन्दुस्तानी समाज में Period को लेकर चर्चा करना ठीक नहीं माना जाता है और लड़कियों से पीरियड्स के दौरान अब भी अलग तरह से बर्ताव किया जाता है. लेकिन आप यदि लंदन के एक मां की कहानी सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे. पेनी होल्डर भी अपने पांच साल के बेटे की उस Painting को देखकर हैरान रह गई थीं जिसमें बेटे ने मां के प्राइवेट पार्टस की जगह लाल निशान बना दिया था.

बेटे की पेटिंग में लाल रंग का धब्बा देखकर मां हैरान-परेशान थी और हंस भी रही है कि उसके बेटे ने ये क्या किया? मां ने इस पेंटिग को अपने फेसबुक अकाउंट पर भी पोस्ट कर दिया. पेनी ने पोस्ट में लिखा पेंटिग देखकर मुझे समझ नहीं आया कि मैं गर्व करूं या शर्म से मर जाऊं? जूलियन ने पेंसिल पकड़ एक चेहरा, एक गोल पेट और दो पतली-पतली टांगें बना दीं. तस्वीर में नीचे की ओर यानी जहां प्राइवेट पार्ट्स होते हैं वहां एक लाल रंग का धब्बा बना था. मां ने बच्चे से पूछा कि इस लाल निशान का मतलब क्या है. बच्चे ने जवाब दिया ‘ये आपके पीरियड हैं मॉम.




MUST READ: PERIOD में टीनएज बेटी कैसे रहे HEALTHY?

पेनी को अपने सबसे छोटे बच्चे की पैदाइश के बाद से पल्मोनरी एम्बोलिज्म की शिकायत हो गई. इस बीमारी में फेफड़ों की ओर जाती धमनियों में ब्लॉकेज हो जाता है. जिसको साफ करने के लिए खून को पतला करने की मेडिसन दी जाती हैं. इस वजह से पीरियड में जब खून आता है, वो भी पानी की तरह बहने लगता है. उन्हें पीरियड में बहुत तकलीफ हो जाती थी. कई बार तो ऐसा भी हुआ कि उनका बच्चा टॉयलेट में था और उसकी मौजूदगी में उन्हें बाथरूम में घुसकर खून साफ़ करना पड़ता था, क्योंकि उनके घर में एक ही टॉयलेट था और वो पैड बदलने के लिए बिलकुल इंतज़ार नहीं कर सकती थी.

एक दिन मां पेनी ने अपने बच्चों इसके बारे में समझाया. जिसके बाद से उनका बेटा बार-बार अपनी मां से पूछता रहता कि क्या वो ठीक हैं? पेनी कहती है कि उनके बच्चे उनका बहुत खयाल रखते हैं और उन्हें मुसीबत में देखकर परेशान हो जाते हैं.




MUST READ: PERIOD हो जाए तो पापा को पानी भी नहीं पिला सकती

 

जब पेनी को मालूम पड़ा कि ड्रॉइंग में लाल निशान उनके पीरियड को दिखाने के लिए है, उनका दिल भर आया. उन्होंने बच्चे से कहा कि ये बहुत सुंदर है. बच्चे ने कहा, ‘मुझे लगा था तुम्हें ये पसंद आएगा मां.’ वे कहती है कि मेरे ज़माने में मेरे ब्वायफ्रेंड तक को पता नहीं था कि पीरियड्स क्या होते हैं और इसका लड़कियों के लिए क्या मायने होता है. मैं समझती हूं कि मेरा बेटा बड़ा होकर लड़कियों के प्रति ज़्यादा सेंसेटिव होगा .




 

Facebook Comments