क्यों देखें WOMEN’S WORLD CUP में INDIA vs ENGLAND का मुकाबला?

350
Indian Women Team
Indian Women Team

ICC Women’s Cricket World Cup में India vs England  के बीच आज होने वाले Final Match पर सबकी निगाहें होंगी क्योंकि यह सभी देशवासियों के लिए गर्व का पल है. इस मैच का प्रसारण तीन बजे से स्टार स्पोर्टस पर हो रहा है. भारतीय टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर सेमीफाइनल में छह बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में अपनी जगह बनाई है और यह सवाल भी उठाया है कि आखिर Women’s Cricket को भी वो तवज्जो और उसके खिलाड़ियों को वो पैसा और सम्मान क्यों नहीं मिलता जो पुरुष क्रिकेटरों को मिलता है? हालांकि बीसीसीआई ने वर्ल्डकप की शुरुआत से पहले महिला क्रिकेटरों को पुरुष क्रिकेटरों के बराबर यानी 100 डॉलर प्रतिदिन के हिसाब से दैनिक भत्ता देना शुरु किया है लेकिन भारत में लिंगभेद की जड़ें जितनी गहरी हैं उस हिसाब से महिला क्रिकेटरों को अभी बहुत कुछ हासिल करना है.  

RELATED TO THIS: पंजाबी कुड़ी हरमनप्रीत ने WOMEN’S WORLD  CUP में कैसे छुड़ाए ऑस्ट्रेलिया के छक्के?

 

पूरे टूर्नामेंट में कई भारतीय महिला क्रिकेटरों ने अपने शानदार परफॉर्मेंस के दम पर भारतीय टीम को फाइनल तक पहुंचा दिया है. 392 रन के साथ टीम की कैप्टन मिताली राज इस वर्ल्ड कप की दूसरी सबसे सफल बल्लेबाज बन गई हैं. उनके मुक़ाबले ऑस्ट्रेलिया की एलिसे पेरी टॉप पर हैं. मिताली ने इस टूर्नामेंट में तीन रिकॉर्ड बनाए. वह वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने वाली महिला बल्लेबाज बन गई हैं जिन्होंने 6000 रन पूरे किए. उनके नाम दूसरा रिकॉर्ड बना लगातार सात अर्धशतक बनाने वाली पहली खिलाड़ी होने का. वह वर्ल्ड कप में 1000 रन बनाने वाली पहली भारतीय बल्लेबाज भी बन गई हैं.  

अपनी बल्लेबाजी की बदौलत स्मृति मंधाना पहले दो मैचों में छाई रही. भारत की पाकिस्तान के खिलाफ 95 रन की जीत में एकता बिष्ट का जबरदस्त योगदान रहा. उन्होंने 18 रन पर पांच विकेट लेकर जीत की नींव रख दी. चौथे-पांचवें मैच में दीप्ति ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. वे 12 विकेट लेकर इस टूर्नामेंट की तीसरी सबसे सफल गेंदबाज बन गईं. उसके बाद झूलन गोस्वामी, राजेश्वरी और हरमनप्रीत ने अपने परफॉर्मेंस से दुनियाभर का ध्यान अपनी ओर खींचा. सेमीफानइल में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 36 रन की जीत हासिल की और इसमें हरमनप्रीत कौर रिकॉर्ड 171 रन बनाकर छा गईं. इस तरह हर मैच में किसी न किसी महिला खिलाड़ी ने मैच को जीताने में अपनी पूरी ताक़त लगा दी और स्टार बनकर उभरीं.     

 

Facebook Comments