इस बेटी के FATHER ने क्यों कहा बेटियों को सुरक्षा दे या भ्रूणहत्या करने दे सरकार?

26
Female foeticide

उत्तर प्रदेश के बलिया के रहने वाले जीतेंद्र कुमार दुबे की बेटी रागिनी दुबे की छेड़खानी के बाद 8 अगस्त को बेरहमी से हत्या कर दी गई. वो लड़की अपनी जान बचाने के लिए चिल्लाती रही लेकिन आरोपियों ने उस पर रहम नहीं खाई. अब इस Father का कहना है कि सरकार यदि बेटियों को सुरक्षा नहीं दे सकती तो कन्या भ्रूणहत्या करने की इजाजत दे. जीतेंद्र दुबे का कहना है कि लड़कियां घर से निकलती है, पढ़ती-लिखती है लेकिन यदि सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया नहीं करा सकती तो फिर मां-बाप को उन्हें गर्भ में ही मारने की इजाजत देनी चाहिए. 




MUST READ: COLLEGE जाएं तो SAFETY के लिए जरुर रखें ये 4 चीजें

 

11वीं क्लास में पढ़ने वाली रागिनी 8 अगस्त को अपनी बहन के साथ स्कूल जा रही थी, तभी आरोपियों ने उसका रास्ता रोक लिया.  बाइक से धक्का मारकर पहले उसके साथ छेड़खानी की गई और बाद में धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी गई.  आरोपियों के डर से लड़की ने स्कूल जाना छोड़ दिया था. इस मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो गई है.




MUST READ: महिलाओं को RAPE से कैसे बचाएगा CENSOR STICKER

 

मामले के तूल पकड़ने और उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठने के बाद यूपी के एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार का कहना है कि यह बेहद दुखद घटना है. लड़की की हत्या करने वाले आरोपी जान- पहचान वाले लड़के थे और उनकी कोई रंजिश थी लड़की के परिवार वालों से. उन्होंने कहा कि वहां के एसपी ने लड़की के परिवार वालों से बात की थी. परिवार का पहले से आरोपी परिवार से झगड़ा था लेकिन  लड़की के परिवार वालों का कहना था कि उन्होंने पुलिस से इसकी कोई शिकायत नहीं की थी.




इस पूरे प्रकरण पर उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठ रहे है. योगी आदित्यानाथ ने मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद ही प्रदेश की बेटियों को छेड़खानी से बचाने के लिए एंटी-रोमियो दल बनाए लेकिन छेड़खानी के बाद किसी बेटी की हत्या हो जाए तो इस दल का क्या औचित्य है?

 

Facebook Comments