उसे क्यों मिली लड़कों के WASHROOM में खड़े होने की सजा?

0 views
Boy's Washroom
11-year-old Hyderbad school student

गुरुग्राम के एक प्रतिष्ठित स्कूल में सात साल के बच्चे की हत्या, दिल्ली के एक स्कूल में बच्ची के साथ दुष्कर्म की हैरान और विचलित करने वाली घटनाओं के बाद अब  हैदराबाद से ख़बर है कि वहां एक School में  छात्रा के स्कूल यूनिफार्म में नहीं आने पर उसे सजा के तौर पर Boy’s Washroom में खड़ा कर दिया गया. हैदराबाद में भारतीय हैवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड के राव हाई स्कूल में एक 11 साल की लड़की को नॉन टीचिंग स्टाफ ने ऐसी सजा दी कि छात्रा शर्म और घबराहट से परेशान हो गई .




MUST READ: अपने बच्चों को SEXUAL ASSAULT से बचाने के 10 तरीके

 

बताया जाता है कि छात्रा स्कूल के फर्स्ट फ्लोर पर बने वॉशरूम में जाने के लिए इंतज़ार कर रही थी. तभी स्कूल के किसी नॉन टीचिंग स्टाफ की नज़र उस पर पड़ी और देखा कि वह स्कूल यूनिफॉर्म में नहीं है. नॉन टीचिंग स्टाफ ने उससे यूनिफॉर्म नहीं पहन कर आने पर सवाल किया. जब घबराई छात्रा यूनिफॉर्म को लेकर कोई जवाब नहीं दे पाई तो रिपोर्ट के मुताबिक स्टाफ ने उसे ज़बरदस्ती उसे लड़कों के वॉशरूम के पास ले गई और वहां उसे धकेल कर खड़ा कर दिया. बताया जा रहा है कि लड़की को काफी देर वहां खड़ा रखा गया.




MUST READ: CHILD ABUSE का शिकार हुई लेकिन क्यों नहीं कह पाई किसी से?

 

लड़कों के वॉशरुम के पास खड़े होने के कारण छात्रा काफी असहज महसूस कर रही थी. उसे समझ ही नहीं आ रहा था कि वह क्या करे? उसे काफी शर्म भी महसूस हो रही थी क्योंकि लड़कों का वॉशरूम में आना जाना जारी था वे उसे इस तरह खड़े देख तरह-तरह के सवाल पूछ रहे थे. इस घटना के बाद लड़की काफी शर्मिंदगी महसूस कर रही है. बाद में छात्रा ने अपने पेरेन्टस को इस घटना के बारे में बताया तो उन्होंनें प्रिसिंपल को तुरंत इसकी शिकायत की .अभी तक उस कर्मचारी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है.पेरेन्ट्स ने हैदराबाद के एक बच्चों के अधिकारों से जुड़े संगठन को भी लिखित में शिकायत भेजी है .




महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे… 

Facebook Comments