तब नंगा करके घुमाया था, अब रैंप पर चलाया

33
मुख्तार माई पाकिस्तान
मुख्तार माई पाकिस्तान

पाकिस्तान में 14 साल पहले सामूहिक दुष्कर्म और हैवानियत का शिकार हुई मुख्तार माई ने इस सप्ताह कराची के एक फैशन शो में हिस्सा लिया. फैशन वीक के दौरान जब वे रैंप पर उतरीं तो दुनिया उनके साहस की कायल बन गई. टॉप फैशन मॉडल के बीच उन्हें महिलाओं के लिए साहस और आशा का प्रतीक बताया गया.




रैंप पर चलने के बाद मुख्तार माई ने कहा कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वह पाकिस्तानी महिलाओं के लिए उम्मीद और साहस की मॉडल है. उन्होंने कहा कि यदि मैं एक भी कदम बढ़ाती हूं और इससे यदि किसी भी महिला की मदद होती है तो यह मेरे लिए बहुत खुशी की बात है. उन्होंने कहा कि मैंने जिस हालात का सामना किया वैसे ही दौर से गुजरने वाली महिलाओं की मैं आवाज बनना चाहती हूं.




पंजाब के एक छोटे गांव मीरवाला में मुख्तार माई के साथ 2002 में सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई थी और बाद में सार्वजनिक तौर पर  नग्न घुमाया गया था. उनके साथ यह सब कबायली परिषद के आदेश पर किया गया. उनके भाई पर यह आरोप लगा कि एक संपन्न समुदाय की महिला के साथ उनके संबंध है. ऐसा करने को अपराध माना गया और भाई के इस अपराध की सजा सुनाई गई मुख्तार माई को.




अपने साथ हुए उस नाइंसाफी के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और इस मामले को वे सुप्रीम कोर्ट तक ले कर गईं. बाद में वे पाकिस्तान में महिला अधिकारों के लिए चलने वाले अभियान का चेहरा बन गईं. कराची के जिस फैशन शो में मुख्तार माई ने रैंप वॉक किया उसमें पाकिस्तानी फैशन जगत के कई नामचीन हस्ती शिरकत कर रहे थे. जब वे रैंप पर उतरी तो कई नामी मॉडल्स ने उनका साथ दिया  लोगों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया.

Facebook Comments