हनीप्रीत आई सामने कहा- मेरे और राम-रहीम के बीच बाप-बेटी का RELATION

1702
Relation
राम-रहीम हनीप्रीत

कई राज्यों की पुलिस को जिसकी तलाश थी वो एक न्यूज चैनल के सामने आ गई. बाबा राम-रहीम की राजदार और उनकी कथित बेटी हनीप्रीत ‘आजतक’ न्यूज चैनल को इंटरव्यू देकर अपने और अपने और बाबा राम-रहीम के Relation पर सफाई दी. हनीप्रीत ते कहा कि मेरा और पापा का रिश्ता वैसा ही थी जैसा कि किसी भी बाप-बेटी का होता है. मेरे और पापा का रिश्ता पाक़ है. लोग जो भी बात फैला रहे हैं हमारे संबंधों को लेकर उस पर यक़ीन नहीं किया जाए. माना जा रहा है कि अब हनीप्रीत जल्दी ही सरेंडर कर देंगी. 




हनीप्रीत ने अपने इंटरव्यू में कहा कि मैं इस बात पर हैरान हूं कि मेरे और पापा के रिश्ते को कैसे उछाला जा रहा है?  मेैं इसलिए डर गई थी कि एक बाप-बेटी के रिश्ते को कैसे तार-तार कर दिया. क्या कोई पापा अपनी बेटी के सिर पर हाथ नहीं रखता, क्या एक बेटी अपने पापा का प्यार नहीं करती?




हनीप्रीत ने अपने ऊपर दंगा कराने के लगे आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि यह सब अराजक तत्वों ने किया. मुझे कोर्ट से परमिशन मिली थी पापा के साथ अंदर जाने की. इतनी फोर्स थी उन सबके बीच मैं परमिशन से गई थी. जिन शरारती तत्वों ने दंगा भड़काने का काम किया उसमें मेरा रोल क्या था? मैं तो चुपचाप वहां थी. जिसके पापा को सजा सुना दी गई वहां तो दिमाग ही काम नहीं कर रहा था. डिप्रेशन हो गया था.  उन्होंने कहा कि मैं कहां गुनाहगार हूं. मैंने एक बेटी का फर्ज अदा किया. अपने पापा के साथ गई. हर परिवार जाता है. 




वे इतने दिनों तक कहां गायब रही इस सवाल के जवाब में हनीप्रीत ने कहा कि मैं रोहतक से निकल कर दिल्ली गई. मुझे जैसा समझा गया है मैं वैसी नहीं हूं. मेरी स्थिति समझिए. जिसने अपने पापा के साथ मिलकर देशभक्ति की, पहले उसका बाप अंदर चला गया और अब उसी लड़की को देशद्रोही करार दिया गया. मुझे कानूनी प्रक्रिया का अंदाजा नहीं था. जैसे ही मैं यह सब समझ पाई मैं आगे आई हूं. अब मैं पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट जाऊंगी. मैं कानूनी सलाह लूंगी. मैं निर्दोष हूं, मेरे पापा निर्दोष हूं.

डेरे में नरकंकाल के मिलने और साध्वियों का यौन शोषण किए जाने के आरोप के बारे में उन्होंने कहा कि नरकंकाल मिले क्या? जिनका शोषण करने की बात कही जा रही है क्या वे सामने आई? एक चिट्ठी के कारण मेरे पापा को सजा दे दी. क्या अब तक वे सामने आई हैं?

फिल्मों में काम करने के बारे में हनीप्रीत ने कहा कि मैं फिल्मों के लाईन में आना ही नहीं चाहती. बाद में मुझे शौक था कि मैं डाइरेक्टर बनूं. कैमरे पर आने का मुझे शौक नहीं था. जिन लोगों ने पहले भी मेरा इंटरव्यू लिया है वे सब यह बात जानते हैं कि मैं फिल्मों में नहीं आना चाहती थी.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

Facebook Comments