इस महिला अफसर ANITA MALVIYA ने हंसी में उड़ाई RAPE VICTIM की शिकायत, सरकार ने हटाया

35
Anita Malviya
Anita Malviya

भोपाल में Gang Rape का शिकार हुईं Victim के साथ असम्मानजनक व्यवहार करने के कारण पुलिस अधीक्षक रेल Anita Malviya की छुट्टी कर दी गई है. आरोप है कि Rape Victim की शिकायत के बाद भी उन्होंने इस घटना को गंभीरता से नहीं लिया और मीडिया के पूछे गए सवालों पर हंस-हंस कर जवाब दिया. अनिता मालवीय के साथ भोपाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक योगेश चौधरी को भी हटा दिया गया है.




MUST WATCH: आपने किया है मेरा RAPE..

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक रेल पुलिस अधीक्षक भोपाल अनीता मालवीय ने मुस्कुराते हुए चेहरे के साथ इस गंभीर घटना को बहुत हल्के में लिया. उनका यही गैर जिम्मेदारान रवैया उन पर भारी पड़ गया है.  सोशल मीडिया पर मालवीय की घटना को लेकर गैर जिम्मेदाराना तरीके से की जा रही बयानबाजी वायरल हो गई थी. इसे पुलिस मुख्यालय ने काफी गंभीरता से लिया और उन्हें हटा दिया गया है.
 
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक पीड़ित लड़की का आरोप है कि घटना के दिन एसआरपी अनिता मालवीय ने उसकी बात को गंभीरता से नहीं लिया. वो गिड़गिड़ाती रही लेकिन उन्होंने रिपोर्ट दर्ज नहीं की और उसकी बात पर मजे लेती रहीं. एक महिला होने के बाद भी वे मेरी कहानी सुनकर हंसती हैं तो न्याय की उम्मीद कहां रह जाती है. पीड़ित का कहना है कि वे वर्दी पहनने के लायक ही नहीं है.
 
हालांकि अनिता मालवीय ने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि मैं भी एक महिला हूं किसी के साथ ऐसा कैसे कर सकती हूं?
 

पीड़ित ने आरोप लगाया है कि घटना के चार दिन होने के बाद कभी बयान तो कभी जांच के लिए चक्कर लगा रही हूं. पुलिस का रवैया टॉर्चर करने जैसा है. सिस्टम और पुलिस के खिलाफ अफसोस नहीं बल्कि गुस्सा है.




MUST READ: महिलाओं को RAPE से कैसे बचाएगा CENSOR STICKER

 

पीड़ित ने आरोप लगाया है कि घटना के चार दिन होने के बाद कभी बयान तो कभी जांच के लिए चक्कर लगा रही हूं. पुलिस का रवैया टॉर्चर करने जैसा है. सिस्टम और पुलिस के खिलाफ अफसोस नहीं बल्कि गुस्सा है. घटना के चार दिन होने के बाद कभी बयान तो कभी जांच के लिए चक्कर लगा रही हूं. पुलिस का रवैया टॉर्चर करने जैसा है. सिस्टम और पुलिस के खिलाफ अफसोस नहीं बल्कि गुस्सा है.

छात्रा के साथ गैंग रेप के मामले में भोपाल के पुलिस प्रशासन को जिस तरह सक्रिय होना था, वैसे भोपाल रेंज के अधिकारी नहीं हुए. इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान काफी नाराज थे. माना जा रहा है कि इन अधिकारियों को इसी वजह से हटाया गया है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

Facebook Comments