Family Planning के 6 खास तरीके

111
Family Planning
Family Planning

प्रियंवदा सहाय:

आमतौर पर pregnancy से बचने की जिम्मेदारी महिलाओं पर छोड़ दी जाती है. ऐसे में महिलाओं के सामने यह समस्या आ जाती है कि वे family planning करने के लिए किस तरह के उपाय को अपनाए. Family Planning के पारंपरिक  तरीक़े जो परिवार को छोटा रखने या बच्चों के बीच अंतर रखने में कारगार होते हैं इसके अलावा फिलहाल कंट्रासेप्टिव डिवाइस या पिल्स के अलावा कंडोम, इंट्रायूट्रीन डिवाइस, परमानेंट सर्जरी, इंटेक्टेबल हार्मोनल प्रोसेस और बच्चे के जन्म के साथ ही यूट्री डिवाइस के विकल्प मौजूद हैं. 




अडीवा अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ नीता जैन बताती हैं कि फिलहाल 6 तरीकों से फैमिली प्लानिंग करके आप हैप्पी फैमिली लाइफ जी सकते हैं.




1-लंबे समय तक प्रिग्नेंसी से बचना चाहती हैं तो इंट्रायूट्रीन डिवाइस का इस्तेमाल सबसे फायदेमंद है. इसके इस्तेमाल से कम से पांच साल तक प्रिग्नेंग होने की संभावना नहीं रहती है.

2-हार्मोनल कंट्रासेप्टिव के रुप में गोलियां यानी पिल्स का इस्तेमाल होता है. अगर रोजाना ध्यान में रखकर इन दवाओं का इस्तेमाल किया जाए तो अनचाहे प्रिग्नेंसी की आशंका 99 फीसदी तक कम हो सकती है.

3-वहीं बैरियर मेथड के रुप में फीमेल कंडोम का इस्तेमाल होता है. हां  लेकिन ध्यान देने की बात है कि सेक्स से पहले अगर ठीक से इसका इस्तेमाल नहीं किया गया तो प्रिग्नेंसी का खतरा हो सकता है.




4-स्थायी रुप से family planning के लिए महिला और पुरुष दोनों के लिए सर्जरी के विकल्प भी मौजूद हैं.

5- इंटेक्टेबल हार्मोनल प्रोसेस के जरिए भी family planning के विकल्प को आप आसानी से अपना सकती हैं. आपके डॉक्टर इस संबंध में आपको पूरी जानकारी दे सकते हैं.

6-सेक्स के पहले कोई सेफ मेथड नहीं अपनाने के बाद यदि pregnancy का खतरा होता है तो इमरजेंसी पिल्स भी विकल्प के रुप में है.

ये सभी सुरक्षित तरीके हैं लेकिन जरुरत और इस्तेमाल के तरीकों को देखते हुए पार्टनर को यह फैसला खुद लेना होता है. 

 

 

 

Facebook Comments