मुंबई में दुनिया की FIRST LADIES SPECIAL TRAIN ने पूरा किया 26 साल का सफर

46
First Ladies Special Train

भारतीय रेल और महिला यात्रियों के लिए 5 मई खुशी का दिन था. कल मुम्‍बई के चर्चगेट और बोरीवली  बीच 05 मई, 1992 को चलाई गई  First ladies Special Train ने 26 साल पूरे कर लिए.




विश्व की पहली महिला स्‍पेशल रेलगाड़ी के परिचालन की कल 26वीं वर्षगांठ थी. 05 मई, 1992 को चर्चगेट और बोरीवली के बीच विश्‍व की First ladies Special Train  चलाई गई थी.

भारतीय रेल की ओर से तरह महिलाओं के लिए समर्पित यह ट्रेन मील का पत्‍थर है. प्रारंभ में इसका परिचालन पश्चिम रेलवे के चर्चगेट और बोरीवली के बीच हुआ और 1993 में इसका विस्‍तार करके वीरार तक चलाना शुरू किया गया.




शुरुआत में इसकी प्रतिदिन केवल दो सेवाएं थीं जो अब बढ़कर प्रतिदिन आठ हो गई है. सुबह चार और शाम को चार. पश्चिमी रेलवे के मुख्य प्रवक्ता रविंद भाकर के मुताबिक कई वर्षों तक एक पूरी ट्रेन महिला यात्रियों के लिए चलाना एक मील के पत्थर से कम नहीं है. महिला यात्रियों के लिए उठाया गया यह कदम इतिहास के पन्नों में दर्ज है.

MUST READ: डर हो गया छू-मंतर, SOLO TRAVEL में मजा आने लगा है भारतीय महिलाओं को

उनके मुताबिक इसने यकीनन करीब 10 लाख से अधिक मुंबई की महिलाओं को उनके घर से कार्यस्थल तक सुरक्षित जाने में मदद की है. उनका कहना है कि कि 26 साल पूरे होने पर हम महिला यात्रियों का अभिवादन करते हैं और यह जानना चाहेंगे कि वे इसमें आगे क्या सुधार और सुविधाएं चाहिए?




यह ट्रेन रोजाना हजारों महिला यात्रियों को घर से उनके कार्यस्थल और कार्यस्थल से घर तक सुरक्षित पहुंचा रहा है. लेडीज स्पेशल ट्रेन महिलाओं के लिए एक वरदान की तरह है जो उन्हें छेड़छाड़ से बचाने और तनावमुक्त रखने में मदद करता है.

SEE THIS: SOLO TRAVELLER हैं तो रखें इन 5 बातों का ध्यान

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें