अपने क्षेत्र की असाधारण ‘FIRST LADIES’ का तालियों से कीजिए स्वागत, राष्ट्रपति कोविंद करेंगे आज सम्मानित

2279
First Ladies
President Ramnath Kovind will honour 112 women achievers

असाधारण कार्य करने का जोखिम और साहस उन्होंने दिखाया और अपने क्षेत्र की ‘First Lady’ बनकर देश का नाम रोशन किया. ऐसी ही 112 ‘First Ladies’ को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज सम्मानित कर रहे हैं. यह सम्मान महिला और बाल विकास मंत्रालय की ओर से दिया जा रहा है.




“First Ladies” मंत्रालय के “उपलब्धि हासिल करने वाली 100 महिलाएं” अभियान का दूसरा चरण है. महिला और बाल विकास मंत्रालय ने विस्तृत जांच प्रक्रिया अपनाने के बाद ऐसी 112 महिलाओं का चयन किया है. जिनमें रक्षा बलों, विज्ञान, खेल, उद्योग, मनोरंजन और हॉस्पिटेलिटी जैसे विविध क्षेत्रों से महिलाएं शामिल हैं.




MUST READ: NATIONAL BRAVERY AWARD पाने वाली इन बहादुर लड़कियों के किस्से सुनकर दंग रह जाएंगे

राष्ट्रपति के हाथों सम्मान पाने वे महिलाएं भी शामिल हैं जिन्होंने विभिन्न रूढ़ियों को तोड़कर अपनी पहचान बनाई. इनमें कुली मंजू, गांव की सरपंच छवि रजावत, पहली महिला दमकलकर्मी हर्षिनी कन्हेकर, एशिया की पहली पेशेवेर महिला कॉफी-टेस्टर सुनालिनी मेनन, पहली महिला बार टेंडर शतभी बसु शामिल हैं.




सम्मान पाने वालों में कांस फिल्म फेस्टिवल में जूरी मेंबर के तौर पर पहली भारतीय अभिनेत्री बनने का गौरव हासिल करने वाली अभिनेत्री ऐश्वर्य राय, पैराओलंपिक में मेडल जीतने वाली दीपा मलिक, एशियर गेम्स बॉक्सिंग में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी मैरी कॉम शामिल हैं.

वहीं अन्य खिलाड़ियों में साइन नेहवाल, मिताली राज, पीटी ऊषा, गीता फोगाट, मिशेल काकड़े, साक्षी मलिक हैं. उच्च पद पाने वाली धन्या मेनन, रुवेदा सलाम, टेसी थॉमस भी हैं.  वहीं फ्लाइंग ऑफिसर भावना कंठ, अवनी चतुर्वेदी और भारत की पहली महिला ऑटो ड्राइवर शीला भी शामिल है.

MUST READ: कौन है आंचल ठाकुर जिसने SKIING में देश को दिलाया पहला मेडल ?

स्पेस में जाने वाली पहली भारतीय महिला कल्पना चावला, पहली महिला तबला वादक डॉ अबन मिस्त्री, माइक्रोवेव इंजीनियरिंग करने वाली पहली साइंटिस्ट राजेश्वरी चटर्जी, इंग्लिश चैनल पार करने वाली पहली भारतीय महिल आरती साहा को मरणोपरांत यह सम्मान दिया जाएगा.

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने शुक्रवार को बताया कि अधिकार संपन्न नारी की पवित्र भावना के साथ, मंत्रालय ने First Ladies की अवधारणा विकसित की है. इन महिलाओं ने अपने-अपने क्षेत्र में असाधारण कार्य कर प्रथम महिला बनने के लिए अनेक बाधाओं और मुश्किलों का सामना किया.

उन्होंने बताया कि सम्मान पाने वाली महिलाओं का चयन कई तरीकों से किया गया है. जैसे रक्षा मंत्रालय और खेल मंत्रालय से मिली जानकारी, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, अखबारों में छपी खबरों और इंटरनेट समेत विभिन्न स्रोतो से 227 महिलाओं की सूची तैयार की गई थी.

जजों के पैनल की मदद से उनमें से 112 महिलाओं को चुना गया. मंत्रालय ने 2015 में फेसबुक के साथ मिलकर उपलब्धि हासिल करने वाली ऐसी 100 महिलाओं की पहचान की थी, जिन्होंने सार्वजनिक कार्य के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्टता हासिल की.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें