प्रिया प्रकाश वारियर के खिलाफ दर्ज FIR पर नहीं होगी कार्रवाई, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

1272
FIR
Priya Prakash Varrier

एक वीडियो क्लिप से रातों-रात इंटरनेट सेंशेसन बनी मलयालम अभिनेत्री प्रिया प्रकाश के खिलाफ दर्ज FIR पर अब किसी तरह की कार्रवाई नहीं होगी. सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ दर्ज FIR पर रोक लगा दी है.साथ ही FIR दर्ज कराने वालों को कोर्ट ने नोटिस जारी किया.




मलयालम फिल्म ‘ओरु अदार लव’ के एक गाने को लेकर प्रिया प्रकाश वारियर और फिल्म के निर्देशक उमर अब्दुल वहाब के खिलाफ तेलंगाना और महाराष्ट्र में कुछ युवाओं ने FIR दर्ज कराई है. प्रिया ने इसी एफआईआर पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.




MUST READ: SUPREME COURT क्यों पहुंचना पड़ा प्रिया प्रकाश वारियर को?

सुप्रीम कोर्ट  में दायर की गई एक याचिका में प्रिया के वकील ने राज्यों को उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई करने से रोकने के निर्देश देने की अपील की है. सुप्रीम कोर्ट ने किसी राज्य को इस मामले में FIR पर किसी तरह की कारवाई न करने का आदेश दिया है.




कोर्ट में दी  याचिका में फिल्म मेकर्स ने कहा है कि गाने की गलत व्याख्या करके यह कहा जा रहा है कि इससे मुस्लिम समुदाय की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंच रही है. गलत दावों के आधार पर महाराष्ट्र और तेलंगाना में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

READ MORE: PRIYA PRAKASH VARRIER कैसे देखते-देखते छा गईं सोशल मीडिया पर?

जिस गाने को लेकर इतना विवाद हुआ वह फिल्म ओरु अदार लव (Oru Adaar Love) के ‘मानिक्या मलराया पूवी’ गाने का हिस्सा है. इस गाने में प्रिया फिल्म के ऐक्टर और स्टूडेंट के रोल में दिख रहे मोहम्मद रोशन को आंख मारती दिख रही हैं.

प्रिया के इसी गाने को मुसलमान विरोधी बताते हुए हैदराबाद के कुछ युवाओं ने निर्देशक ओमर लूलू के खिलाफ और प्रिया के  खिलाफ FIR दर्ज कराई है. निर्देशक ओमर लूलू ने कहा कि यह गाना इस्लाम विरोधी नहीं है बल्कि यह मोहम्मद साहब की तारीफ करने वाला है. ‘यह एक पारंपरिक मुस्लिम गाना है यह कुछ अवसरों पर गाया जाता है.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें