पीरियड होने पर जब लड़की को चुप रहने के लिए कहते हैं तभी उसका CONFIDENCE डगमगाने लगता है-अक्षय कुमार

1344
Confidence
Padman Akhay Kumar and Sonam Kapoor

माहवारी (Menstruation) या पारियड पर चुप्पी तोड़ने और Sanitary Napkin की जरुरत पर बनी अपनी नई फिल्म ‘पैडमैन’ लेकर आ रहे अभिनेता अक्षय कुमार कहते हैं  “हमारे देश में जब लड़कियों के पीरियड्स आने पर जब सब उसे चुप रहने को कहतें हैं तो  यहीं से उसका Confidence डगमगाने लगता है.




अक्षय कहते हैं “हमारे देश में जहां लोग पीरियड्स जैसी बातों पर खामोश रह जाते हैं वहीं हमारे ही देश में दक्षिण में जब किसी लड़की को पहली बार पीरियड्स होते हैं तो खुशियां मनाई जाती हैं. लेकिन वहीं हमारे देश के दूसरी जगहों पर इन सारी बातों को छुपा कर रखा जाता है.”




फिल्म पैडमैन 25 जनवरी को रिलीज हो रही है. फिल्म में उनके साथ सोनम कपूर और राधिका आप्टे मुख्य किरदारों में दिखाई देंगी. ‘PadMan’ में मुख्य क़िरदार निभाने वाले अक्षय कुमार से इसी मुद्दे और फिल्म पर  बात की वुमनिया संवाददाता रूना आशीष ने..
confidence
Padman First Look

सवाल-फिल्म ऐसे विषय पर बनी है जिसके बारे में कोई कुछ नहीं कहता.

अक्षय-  बिल्कुल सही बात है. इस विषय पर लोग चुप रहना ज्यादा पसंद करते हैं. हमारी फिल्म में यही मुद्दा उठाया गया है. मेरी फिल्म में एक डायलॉग है If women strong country strong. मेरी सोच बिल्कुल ऐसी ही है.




 

हमारा देश तभी मजबूत बनेगा जब हम हमारे देश में महिलाओं को मज़बूत बनाएंगे. हम लाखों करोड़ों रुपए के हथियार खरीद भी लें ताकि देश को मज़बूती मिल सके तो भी कोई मतलब नहीं है. जिस औरत से जन्म लिया है अगर वो ही मज़बूत नहीं है तो कोई मतलब नहीं है.

confidence
Padman star Akshay Kumar

सवाल-आप जीएसटी के बारे में क्या कहेंगे इस पर 12 %  टैक्स  लगता है

अक्षय-देखिए मेरा तो मानना है कि टैक्स की बजाय सैनिटरी पैड्स को मुफ्त में बांटना चाहिए. अगर हमें हमारे देश की महिलाओं को मज़बूत बनाना है तो उन्हें सैनिटरी पैड्स मुफ्त में देने चाहिए.
confidence
Padman stars Akshay Kumar, Soman Kapoor and director R. Balki
ये कोई आज की ज़रूरत वाली बात नहीं. अब समय आ गया है कि हमें इस पर बात करनी चाहिए. ये तो रोज़मर्रा की ज़रूरी चीज़ है. मेरी राय में तो देश की सारी महिलाओं को ये सैनिटरी नेपकिन्स मुफ्त दिए जाने चाहिए.

सवाल- टॉयलेट एक प्रेम कथा के बाद यह आपकी दूसरी सामाजिक फिल्म है. यह आईडिया कहां से आता है?

अक्षय-मुझे किसी भी फिल्म का आइडिया लोगों से बातचीत के बाद आता है. यह जरूरी नहीं है कि ये बातचीत किसी फिल्म की स्क्रिप्टिंग वाली बातें ही हों.

जैसे मैं अपनी एक महिला फैन से मिला. उन्होंने मुझसे एक सवाल किया कि मैं अगली फिल्म किस सामाजिक समस्या पर करने वाला हूं. मैंने उससे पूछा कि आप बताइए, क्या आपके पास कोई आइडिया है जिस पर मुझे फिल्म बनानी चाहिए. जवाब में उसने कहा कि आप अगली फिल्म दहेज प्रथा की समस्या पर बनाइए.’
अक्षय बोले “उस लड़की की बात सुन कर मैं थोड़ा चौंक गया, मेरे दिमाग में कई तरह के सवाल कौंध गए, मैं उससे पूछना चाहता था कि क्या वह दहेज की समस्या से पीड़ित हुई है, लेकिन उस मौके पर मेरा उससे सवाल करना ठीक नहीं था, इसलिए मैंने उसे आश्वासन दिया कि जरूर मैं दहेज की समस्या पर फिल्म बनाकर लोगों को जागरूक करने की कोशिश करूंगा.”
READ MORE:

 महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें

Facebook Comments