MOVIE REVIEW- विजय वशिष्ठ से जानिए कैसे मिली HASEENA PARKAR को क्लिन चिट ?

21

Movie Review-Haseena Parkar by Vijay Vsahishtha

फिल्म में दाउद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर को क्लीन चिट दी गई है. इस फिल्म में सच की कोई गारंटी नहीं. श्रद्धा कपूर ने हसीना पारकर का रोल किया है. उनके भाई सिद्धांथ कपूर ने दाऊद का रोल किया है.  




दाऊद विदेश जाने के बाद उसका कारोबार उसकी बहन ही चलाती है. फिल्म बताती है कि हसीना पारकर एक मासूम सी लड़की थी लेकिन दाउद के काले कारनामों के कारण वो अपराध की दुनिया में आ गई. हसीना पर 88 केस थे लेकिन एक में ही कोर्ट में उसकी पेशी हुई थी. यह फिल्म हसीना पारकर के टीनएज होने से लेकर उसके गॉडमदर बनने की कहानी है.  हसीना अब इस दुनिया में नहीं है. 




फिल्म बताती है कि हसीना का कोई कसूर नहीं था. हसीना पारकर और दाऊद का पिता मासूम था, उसे स्मगलिंग केस में फंसाया गया था. फिल्म के मुताबिक हसीना का परिवार हालात के कारण अपराध की दुनिया में आए.  फिल्म में कोर्ट के सीन कमजोर है. इतने कमजोर सीन है कि वकीलों की आंखों में आंसूं दिखाई देते हैं.




फिल्म में हसीना पारकर कहती है कि उसका भाई मुंबई से प्यार करता था वो मुंबई में ब्लास्ट करवा ही नहीं सकता. हसीना पारकर यह कबूल करती है कि उसका भाई तस्करी करता था. फिल्म बताती थी कि हसीना पारकर का पति भी अपराधी नहीं था. 

See the trailer: Haseena Parkar Official Trailer

श्रद्धा कपूर ने हसीना पारकर के रोल में जान डाल दी है. एक्टिंग उनके भाई ने भी अच्छी की है. लेकिन कोकाकोला कलर का चश्मा लगाने से कोई दाऊद नहीं बन सकता. फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक है. सिनेमेटोग्राफर अच्छा है. ‘तेरे बिना मैं अच्छा गाना है’. डॉयलॉग शानदार है. फिल्म अपनी स्क्रिप्ट, सिनेमेटोग्राफी, डॉयलॉग, एक्शन और स्क्रिनप्ले से दर्शकों को इंगेज रखती है. यह सही है कि इसमें साक्ष्य को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है लेकिन फिल्म दर्शकों का मनोरंजन करती है. 

Related to this :AIB के साथ मिलकर KANGANA को क्यों कहना पड़ा-“आई हैव वजाइना रे’

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे… 

Facebook Comments