12 साल से कम उम्र के CHILD के साथ हुआ रेप तो रेपिस्ट को मिलेगी फांसी, POCSO ACT में होगा संशोधन

80

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक 8 साल की मासूम बच्ची के साथ हुए गैंग रेप और मर्डर की घटना के बाद लोगों में भारी आक्रोश है. हर तरफ इस बच्ची को इंसाफ देने की मांग जोर पकड़ रही है. ऐसे में केंद्र सरकार 12 साल से कम उम्र के Child के साथ रेप करने वाले को फांसी की सजा देने की तैयारी कर रही है.




12 साल से कम उम्र के Child के साथ रेप करने वाले रेपिस्ट को फांसी की सजा देने के लिए केंद्र सरकार यौन अपराधों से संबंधित बाल संरक्षण अधिनियम (पोक्सो) में संशोधन करेंगी. केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने शुक्रवार को कहा कि कानून में संशोधन का प्रस्ताव जल्दी ही लाया जाएगा.

मौजूदा Protection of Children Against Sexual Offences (POCSO) Act में अभी मृत्युदंड देने का प्रावधान नहीं है. पिछले कुछ समय से देश में छोटी बच्चियों के साथ रेप की घटनाएं बढ़ी है. इसे देखते हुए हरियाणा, मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों ने 12 साल की कम उम्र से बच्ची के साथ रेप करने वालों के लिए मौत की सजा का प्रावधान किया है.




MUST READ: #JusticeforKathuaGirl-देश की दूसरी निर्भया के लिए इंसाफ की मांग लेकर खड़ा हुआ पूरा देश

अब महिला और बाल विकास मंत्री ने भी ऐसा ही कानून बनाने की बात कही है. उन्होंने एक वीडियो जारी करते हुए पोस्को कानून में संशोधन की बात कही. यह वीडियो Twitter पर अपलोड किया गया.

वीडियो में उन्होंने कहा है कि कठुआ में एक बच्ची के साथ हुए रेप की घटना और दूसरी ही ऐसी घटनाओं को सुनकर मैं बहुत व्यथि हूं. मैं और मेरा मंत्रालय पोस्को एक्ट में संशोधन करने जा रहे है जिससे कि 12 साल की कम उम्र के बच्चों के साथ रेप करने वाले को फांसी की सजा दी जा सके.




READ THIS: अब दिल्ली में नाबालिग से रेप पर DEATH PENALTY देने का प्रस्ताव, पीछा करना भी बनेगा गैर जमानती

मेनका गांधी ने कहा है कि कानून में संशोधन का प्रस्ताव जल्दी ही कैबिनेट के सामने रखा जाएगा. हमारा प्रयास है कि इस कानून को जल्द से जल्द लागू किया जाए. मंत्रालय के सचिव राकेश श्रीवास्तव ने कहा है कि मंत्रालय पॉस्को एक्ट में संशोधन के लिए प्रावधानों का अध्ययन कर रहा है और जल्दी ही मसौदा तैयार करके कानून मंत्रालय पर उसकी राय लेने के लिए भेजा जाएगा.

वहीं गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि कठुआ गैंगरेप मामले में पीड़ित परिवार को न्याय मिलेगा. उन्होंने कहा कि देश भी कभी भी नाबालिग के साथ रेप होता है तो तुरंत एफआईआर दर्ज होनी चाहिए. अगर कोई संदेह है तो प्राथमिक कार्रवाई और जांच होनी चाहिए.

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें