CONGRESS PRESIDENT बनते ही राहुल गांधी ने उठा दी महिला आरक्षण विधेयक की बात

3163
Congress President
Rahul Gandhi, Congress President

Congress President बनते ही राहुल गांधी ने महिला आरक्षण विधेयक की बात उठा दी. उन्होंने लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण दिए जाने वाले विधेयक के पारित होने की जोरदार पैरवी करते हुए कहा कि वे इस मामले में केंद्र सरकार के लिए कोई विकल्प नहीं छोड़ेंगे.




राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की एक कार्यशाला में भाग लेते हुए राहुल गांधी ने कहा हम सरकार को साफ संदेश देंगे कि महिला आरक्षण तो लागू करना ही पड़ेगा. कांग्रेस इसके लिए आपको विकल्प नहीं देगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस शुरु से ही इस विधेयक को पारित कराने पर जोर दे रही है और हमारा प्रयास जारी रहेगा.




MUST READ: WOMEN RESERVATION BILL को पास कराने की कोशिशें फिर तेज

राहुल गांधी ने कहा कि हम विपक्ष की भूमिका है और हम इसको पूरा करेंगे. उन्होंने आरएसएस पर तंज कसते हुए कहा कि आरएसएस ऐसा संगठन है जिसमें महिलाएं घुस ही नहीं सकतीं. हम कांग्रेस पार्टी की विचारधारा को देश में फैलाना चाहते हैं और इस काम को करने के लिए महिलाओं की जरुरत है.




निवर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सिंतबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  पत्र लिखकर यह अनुरोध किया था कि उनकी पार्टी के पास बहुमत है और इसका लाभ उठाते हुए संसद के शीतकालीन सत्र में महिला आरक्षण विधेयक को पारित कराएं. उन्होंने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में यह आश्वासन दिया था कि यदि सरकार महिला आरक्षण विधेयक संसद में पारित करवाने के लिए लाती है तो कांग्रेस पार्टी पूरा सहयोग देगी.

MUST READ: POLITICAL PARTIES पहले अपना घर ठीक करने को तैयार क्यों नहीं?

राहुल के इस बयान को उसी कड़ी से जोड़ कर देखा जा रहा है. यह एक तरह से महिलाओं को पार्टी से जोड़ने की कवायद भी है. यह विधेयक 9 मार्च, 2010 को कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के शासनकाल में राज्यसभा में पारित हो चुका है लेकिन अभी इसको लोकसभा की मंजूरी मिलना बाकी है.

Read this also:

इस महिला ने बदल दी SOCIAL MEDIA पर RAHUL GANDHI की इमेज

राहुल के साथ लेनी थी सेल्फी, बस रुकवाई और चढ़ गई राहुल के बस पर GUJARATI GIRL

मुलायम सिंह की बहू अपर्णा यादव के GHOOMAR DANCE पर क्यों बढ़ गया विवाद?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो में चूड़ियां फेंककर चर्चा में आई CHANDRIKA SOLANKI क्यों लड़ रही निर्दलीय चुनाव?

संयुक्ता भाटिया बनीं लखनऊ की FIRST WOMAN MAYOR, शादिया रफीक ने बनाया लखनऊ की सबसे कम उम्र की पार्षद बनने का रिकॉर्ड

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें