BABUMOSHAI BANDOOKBAAZ की महिला फिल्मकार ने बोर्ड पर क्या लगाए आरोप?

84
babumoshai bandookbaaz
babumoshai bandookbaaz

Censor Board की संस्कृति को लेकर चिंता इस हद तक बढ़ती जा उसके सदस्यों पर ‘ Babumoshai Bandookbaaz’ की फ़िल्मकार किरण श्याम श्रॉफ से आपत्तिजनक सवाल पूछने का आरोप लग रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक फिल्मकार से पूछा गया कि आप औरत होकर ऐसी फ़िल्म कैसे बना सकती हैं? इससे पहले कि मैं कुछ कह पाती दूसरे सदस्य ने कहा-देखिए इन्होंने क्या पहना है? हालांकि सेंसर बोर्ड के प्रमुख पहलाज निहलानी ने इन आरोपों का खंडन किया है. बोर्ड ने फ़िल्म में 48 कट्स लगाने को कहा है. इससे पहले सेंसर बोर्ड लिपस्टिक अंडर माई बुर्का को लेकर कापी विवादों के घेरे में रहा है और फिर ट्रिब्यूनल के आदेश पर उसे वो फ़िल्म रिलीज करनी पड़ी.




बोर्ड ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी की आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ पर कैंची चलाई है और इस फिल्म को ‘ए’ सर्टिफिकेट के साथ 48 कट्स लगाने को कहा है. सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म के लिए शूट किए गए किसिंग और लव मेकिंग सीन हटाने के लिए कहा है. बताया जाता है कि सेंसर बोर्ड के कुछ मेम्बर्स ने फिल्म की प्रोड्यूसर किरन श्रॉफ से पूछा कि वो महिला होकर ऐसी फिल्म कैसे बना सकती हैं. फिर बोर्ड ने बताया कि फिल्म को ‘ए’ सर्टिफिकेट दिया जा रहा हैं. इसके बाद बताया कि इसमें 48 कट लगे हैं.




प्रोड्यूसर ने पूछा कि जब फिल्म एडल्ट लोगों के लिए है तो उसमें 48 कट लगाने की क्या जरूरत? फिल्म में नवाज के साथ विदिता बैग हैं. इसका निर्देशन कुशाल नंदी ने किया है. सेंसर बोर्ड के इस फैसले  पर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने कहा है कि “हम तो फिल्म को ‘ए’ सर्टिफिकेट मिलने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन सेंसर बोर्ड ने तो 48 कट्स लगा दिए हैं. ऐसे तो पूरी फिल्म ही खत्म हो जाएगी..”




इससे पहले यह फिल्म सुर्खियों में तब आई थी जब अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह ने ये फिल्म छोड़ दी थी. बाद में चित्रागंदा की जगह विदिता बैग को कास्ट किया गया था. कुछ दिनों पहले शबाना आज़मी ने कहा था कि इसे सेंसर बोर्ड नहीं कहा जाना चाहिए. बोर्ड का काम फ़िल्म के लिए सर्टीफिकेट जारी करना भर है, उसे वही तय करना चाहिए.