AFI- हिमा दास के लिए अंग्रेजी आना ज्यादा जरुरी है या GOLD MEDAL जीतना ?

524
afi- english-is-important-or-gold-medal
afi- english-is-important-or-gold-medal

Athletics Federation of India- (AFI) अंग्रेजी आना ज्यादा जरुरी है या Gold Medal जीतना? लोग Social Media पर  AFI से यही सवाल पूछ रहे हैं जिसने Hima Das की खराब अंग्रेजी को लेकर उन्हें घेरा.

IAAF World U20 Championships चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाली एथलिट हिमा दास पर AFI ने उनकी अंग्रेजी को लेकर एक आपत्तिजनक Tweet किया. जिसे लेकर सोशल मीडिया पर AFI की खूब खिंचाई की गई.




फेडरेशन ने अपने Tweet में लिखा-‘सेमीफाइनल में जीत दर्ज करने के बाद हिमा दास ने मीडिया से बातचीत की. इंग्लिश अच्छी नहीं है, फिर भी अपना बेस्ट दिया. फाइनल में और ज्यादा अच्छा करने की कोशिश करना.

MUST READ: मां बाप के लिए अपना फर्ज इस तरह निभा रहा बेटा, खुद कैंसर से पीड़ित पर DEMENTIA में पड़ी मां की कर रहे 11 साल से सेवा

फेडरेशन ने 12 जुलाई को हिमा का एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें वे सेमीफ़ाइनल की अपनी जीत के बाद पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रही थीं.




फेडरेशन के इस  Tweet से ऐसा लगता है उन्हें हिमा दास जैसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों से ज्यादा उन्हें खराब प्रदर्शन करके भी  अच्छी अंग्रेजी बोलने वालों एथलिट की जरूरत है.

फेडरेशन के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया पर हंगामा मच गया. एक तरफ जहां लोग हिमा दास की उपलब्धि का जश्न मना रहे थे वहीं फेडरेशन के इस ट्वीट ने सबको निराश किया.




Social Media पर विवाद बढ़ता देख बाद में AFI ने हिंदी में Tweet कर माफी मांग ली है.

READ THIS: MONSOON SEASON के लिए मार्केट में उतरे हैं ये FOOT WEAR, जिससे मिले पैरों को आराम और कपड़ों को राहत

यह पहली बार है कि भारत को आईएएएफ की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल हुआ है.Hima Das से पहले भारत की कोई महिला खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड नहीं जीत सकी थी. हिमा ने यह दौड़ 51.46 सेकेंड में पूरी की. हिमा की इस जीत पर दुनियाभर से उन्हें बधाइयां मिल रही हैं.

 

महिलाओं से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करे… Video देखने के लिए हमारे you tube channel को  subscribe करें